728 x 90

देसी इंजिनीयर , विदेशी मशीने , इंदौर के इंजीनयर की मशीने विदेशों में मचा रहीं धूम !

देसी इंजिनीयर , विदेशी मशीने , इंदौर के इंजीनयर की मशीने विदेशों में मचा रहीं धूम !

साधारण पर उच्च क्वालिटी जीवन जीने वाले अतुल जी का ५५ वर्ष की उम्र पार कर चुके ये हैं अतुल भावे ,  तिल्लोर खुर्द इंडस्ट्रियल एरीया में स्थित डी एम इंजिनीयरिंग  के फाउंडर , इंजिनीयर और एक सफल आन्त्रेप्रेन्योर…

चलिए मैं आपको बताऊँ कि कैसे मात्र १८००० रु से अपनी वर्कशॉप शुरू करने वाले एक इन्दोरी की कहानी जिसने न सिर्फ नौकरी छोड़ कर अपने जीवन को आन्त्रेप्रेंयोर्शिप की और मोड़ा , फंड्स की कमी, इंदौर जैसी मद्धम आकर की सिटी से बिना किसी मार्केटिंग के सिर्फ अपने व्यवहार , बेजोड़ क्वालिटी और उच्च स्तर के प्रोडक्ट्स बनाकर विदेशों में ऐसा नाम कमाया की अब कस्टमर्स /. ग्राहक न सिर्फ उनसे विशेष फ़ूड प्रोसेसिंग मशीने बनवाते हैं बल्कि मेंटेनेंस के लिए भिओ योरोप और अफ्रीका से इन्ही पर निर्भर रहते हैं वो भी अपनी मर्जी और ख़ुशी से |

 

फ़ूड प्रोसेसिंग प्लांट्स की दुनिया में बड़ा नाम

 

 

भावे जी सिर्फ अपनी मशीनो की क्वालिटी के लिए ही नहीं मशहूर हैं बल्कि उनकी बनाइ हुई तकनीक ने इस इंडस्ट्री को औटोमेट भी किया है , इस हद तक कि उनके बनाये ऑटोमेटेड  इस तरफ से मूंग दाल डालो तो वो प्लांट में धुलकर , सूखकर, फ्राय होकर , तुलकर , मसाला लगकर और पैक होकर ही बाहर निकलती है , बिना इंसानी हाथों को लगे यह पूरी तरह हाइजीन और फ़ूड स्टेंडर्ड को पूरा करते हुए फिनिश्ड प्रोडक्ट मिलता है इस ऑटोमेटेड प्लांट में …

वे ऑटोमेटिक फ्रायर्स , पॉपर्स, मिक्स्सर आदि फ़ूड प्रोसेस्सिंग बनाते हैं |

ऐसा ही चिप्स, सेंव, टेस्टी , पॉपकॉर्न , फ्रायम्स आदि में भी होता है | योरोप के कोफ्रेश जैसे बड़े ब्रांड्स इन्दोरी अतुल भावे जी की इंजीनियरिंग  के मुरीद और दीवाने दोनों हैं |

 

 

बालाजी, येलो डायमंड , कोफ्रेश , हल्दीराम, छेडा वेफर्स  कोई भी नाम हो भावे जी की कोई न कोई मशीन इनके पास होती ही है |

 

जी हाँ एक इन्दोरी होने के नाते आप शान से कह सकते हैं की भारत ही नहीं योरोप और युएई में भी जो लोग चिप्स या स्नैक्स खा रहे हैं वो इस इन्दोरी की देन है ! 

 

उच्च गुणवत्ता और तकनीक साथ में जो बोलो वो ही दो चाहे वो महंगा हो , यदि ग्राहक समझदार है तो वो अच्छी चीज़ के अच्छे पैसे देता है , यह मानना है भावे जी का …भावे जी अब नई पीढ़ियों के इंजीनियरिंग बच्चो को भी यही सीख देते हैं | स्टेनलेस स्टील में मशीन्स बनाना , पीएलसी प्रोग्रामिंग और नै चुनौतियों वाली मशीन्स को अपनी टीम के साथ हल करना भावे जी की विशेषता हैं , वे ना नहीं करते ,…..

इंदौर के इंजिनीयरिंग शाखा के बच्चों को भावे जी जैसे जीवंत उदाहरणों से सीखना चाहिए और इनसे मिलकर इनका भरपूर लाभ उठाना चाहिये , इस हेतु आप हमें ईमेल कर सकते हैं ताकि हम उनसे समाया लेकर आपको मार्गदर्शन दिला सकें |

भावे जी सिर्फ व्यवसाय ही नहीं कर रहे अपितु लोकल लोगों को रोज़गार , विदेशी मुद्रा कमाना और एक मिसाल बनकर इस सस्ते और कम क्वालिटी वाले मार्किट में खड़े हैं | अपने स्टाफ का ख्याल रखना कोई भावे जी से सीखे , समय पर वेतन, उनकी चिंता, उनकी सुविधाएँ जैसी कई चीजें भावे जी करते हैं | मैनेजमेंट और इंजीनीयरिंग छात्रों के लिए एक केस स्टडी हैं भावे जी …

 

 

भावे जी की सलाह नए आन्त्रेप्रेन्योर्स को ..

पूंजी कभी सपनो में बाधा नहीं , यदि आइडिया अच्छा है, आपको पूरा ज्ञान है और आपमें लगातार मेहनत  कर सकने का जज्बा है तो सफलता १००% मिलती है |

नए स्टार्टअप्स को चाहिए के अपने प्रोटो टाइप्स को बनाये , गलतियाँ करें ताकि वो एक परफेक्ट प्रोडक्ट बन सके

अपने काम से स्थापित लोगों के मदद ज़रूर लें , एक नहीं तो दूसरे से , जब तक सही मेंटर न मिले |

 

ohi_admin
ADMINISTRATOR
PROFILE

Posts Carousel

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

Latest Posts

Top Authors

Most Commented

Featured Videos

Follow Us