Breaking News
Home / Business / दशहरे पर रावण तैयार है – रेडीमेड और ऑर्डर पर ! जैन सा. “रावणवाले”

दशहरे पर रावण तैयार है – रेडीमेड और ऑर्डर पर ! जैन सा. “रावणवाले”

जैन साहब रावण वाले

इंदौर के एक अद्भुत व्यवसाय वाले भाईयों की बात ..

 ये रावण बेचते हैं  ….

IMG_1580

तो शुरू करें भिया ….

जी हाँ , सुनने  में अजीब लगे पर बात काम की है, दशहरे पर बच्चों को जो मज़ा रावण जलाने में आता है उसकी तो बात ही निराली है | हांलाकि यह अपने मूल सिद्धांत को जिसमे मन और मस्तिष्क की बुराइयों को जलाने की बात है से दूर  होता जा रहा है फिर भी इसे जलाने की प्रथा जारी है भौतिक स्वरुप में |

आजकल मल्टीज़ , वॉल कम्पाउंडेड सोसईटीज़ , क्लब्स और संगठन अपने अपने स्तर पर इसका आयोजन करते हैं | अब चंदे वाले मासूम  रावण कहाँ ? 

IMG_1596
रुपेश भाई और दीपक भाई (जैन सा.)

 

बांस – बल्लियों से बना कद और उसमे भरे भूसे में पड़े सुतली बम , मुकुट में लगे रॉकेट , पटाखों की लड़ की माला  और चमकदार कपड़ों से सजा रावण किसकी स्मृति में नहीं , और कौन नहीं मुस्कुराता उसे याद करके |

 

खैर बात हो रही है “जैन सा. रावण वालों ” की …ये हर मौसम, त्यौहार के हिसाब से अलग -अलग बिजनेस करते हैं , राखी, गणेश और दुर्गा प्रतिमा , होली के कलर और दिवाली के पटाखे भी …..रावण का व्यवसाय शुरु हुआ सन २००२ से और अब  इस व्यवसाय ने अब बड़ा रूप ले लिया  है | 

IMG_1586 IMG_1585 IMG_1580

अलग अलग मस्तक वाले रावण (इंदौर में  चालू भाषा में इसे मुंडी कहते हैं )

अब स्वरूप बदल गया है , एक बड़ा मैदान और पूरा शहर या गाँव वहां इकट्ठा हो यह संभव नहीं , तो छोटे छोटे आयोजन होने लगे हैं |

इंदौर में “वर्ल्ड -फेमस” जैन बंधुओं ने इस काम में मारी है बाजी और इनके बने रावण दिल्ली तलक मशहूर हैं |

IMG_1574
रावण का गोदाम और कारखाना – चन्द्रगुप्त टाकिज कम्पाऊंड, मालवा मिल , इंदौर 

 

रूपेश और दीपक जैन ने अब इस अनोखे व्यवसाय को बड़े अच्छे से सेट किया है , २० लोगों की टीम को रोज़गार दिया और उनका मानना है की हम भारत की संस्कृति के हिसाब से उस खराब चरित्र वाले रावण को जलाने या ख़तम करने का सन्देश देते हैं |  रावण के चरित्र की खामियां ही उसका पतन बनी |

 ५ फीट से लेकर ५१ फीट और स्पेशल ऑर्डर पर १०० फीट तक के रावण के पुतले ये लोग बनाते हैं | लोग अपने घर, मोहल्ले , संगठन , स्कूल-कॉलेज , क्षेत्र और गाँव के लिए इनसे रावण खरीदते हैं | 

कैसे बनाते हैं ?

रूपेश – दीपक ने बताया कि पहले रावण का बेस स्ट्रक्चर / ढांचा तैयार करते हैं बांस से और फिर खपच्चियों से उसके ढाँचे को आकार दिया जाता है |

IMG_1576

पतले तारों से इसे गांठा जाता है | उसमे भूसा भरकर एक शेप दिया जाता है | इसी में आतिशबाजी , बम , पटाखे आदि भरकर इसे सजाने की स्थिति में लाया जाता है | 

IMG_1570

फिर बड़े ही आकर्षक , रंगीन और चमक-दमक वाले कपडे रावण को पहनाते हैं (भिया राजा तो था नि वो लका का …फिर नि तो ) 

IMG_1571

दीपक ने बताया कि ढाल, तलवार, मुकुट अलग से चार्ज किये जाते हैं (कृपया ध्यान दें इस बात पर )

IMG_1594

इस बार भी इन्होने लगभग १५० से ज्यादा पुतले बनाये हैं और सब ऑर्डर पर ….

तो अगर आपको रावण चाहिए तो ५ फीट वाला १५०० में और ५१ फीट वाला १ लाख में पूरी रेंज उपलब्ध है ..

६ फीट , ८ फीट, १२ फीट , १५ फीट , २० फीट २५ फीट ३१ फीट आप बोलो तो आपको कितना बड़ा रावण चाहिए भिया . जैन साब के पास सब है ..

इनसे संपर्क करें , बढ़िया भाई लोग है,अच्छी मेहनत और  बिजनेस करते हैं , हमारा त्यौहार मनवाते हैं …सलाम जैन बंधुओं को सॉरी जैन साब रावण वालो को …

है ना एक नंबर इन्दोरी …

रुपेश जैन 9827636101 दीपक जैन : 9675102004  

जैनसाब

– समीर शर्मा | फाउंडर -एडिटर www.ohindore.com 

 

 

जैन साहब रावण वाले इंदौर के एक अद्भुत व्यवसाय वाले भाईयों की बात ..  ये रावण बेचते हैं  .... तो शुरू करें भिया .... जी हाँ , सुनने  में अजीब लगे पर बात काम की है, दशहरे पर बच्चों को जो मज़ा रावण जलाने में आता है उसकी तो बात ही निराली है | हांलाकि यह अपने मूल सिद्धांत को जिसमे मन और मस्तिष्क की बुराइयों को जलाने की बात है से दूर  होता जा रहा है फिर भी इसे जलाने की प्रथा जारी है भौतिक स्वरुप में | आजकल मल्टीज़ , वॉल कम्पाउंडेड सोसईटीज़ , क्लब्स और संगठन अपने अपने स्तर…

User Rating: 5 ( 1 votes)
Indore Ka Raja - Ganeshotsav

About Sameer Sharma

Founder and Editor, www.ohindore.com

ये भी तो देखो भिया !

इंदौर एअरपोर्ट पे आने-जाने वाली सभी फ्लाइट्स का टाइमटेबल और जानकारी – देवी अहिल्याबाई होलकर एअरपोर्ट, इंदौर

Share this on WhatsApp #indoreairpirt #ahilyabaiairport #indoreflights इंदौर की /से  फ्लाईट्स | Flights from and …