Breaking News
Home / India / बजट का लब्बोलुआब – बजट 2017-18: जानें, क्या हुआ सस्ता और क्या हुआ महंगा

बजट का लब्बोलुआब – बजट 2017-18: जानें, क्या हुआ सस्ता और क्या हुआ महंगा

समीर शर्मा | बजट २०१७-१८ | इंदौर

.

बजट में क्‍या हुआ सस्‍ता और क्‍या महंगा, यहां देखिए पूरी लिस्‍ट

 

सबसे पहली बात यह है की यह बजट एक तरीके से नोटबंदी  के बाद आम आदमी पर हुए घावों पर का पहला मरहम है …. और जनता को भा गया है

देखे कैसा और क्या ख़ास है इसमें ….सबसे पहले तो यह कि  इसे १० हिस्सों में बाँट दिया गया है :

  • किसान
  •  रूरल डेवलपमेंट में इन्फ्रास्ट्रक्चर
  • यूथ्स को जॉब्स
  • गरीबों के लिए मकान
  • सोशल सिक्युरिटी
  • क्वालिटी ऑफ लाइफ के लिए इन्फ्रास्ट्रक्चर
  • डिजिटल इकोनॉमी को बढ़ावा देना
  • पब्लिक सर्विस में लोगों की भागीदारी बढ़ाना
  • ऐसा मैनेजमेंट जिससे रिसोर्सेस मोबाइल हो
  • ईमानदार टैक्स पेयर्स का सम्मान

 

क्या हुआ जिसका फायदा मिलेगा ?

  • स्टील प्रोडक्ट्स सस्ते 
  • सोलर प्रोडक्ट्स सस्ते 
  • टैक्स : ५ लाख तक की  कमाई  वालो पर ५% टैक्स 
  • एविएशन सेक्टर में “उड़ान ” यानि छोटे शहर वाली हवाई योजना पर सर्विस चार्ज को एक साल की छूट 

सस्ता  – मंहगा 

 

ये सामान हुये सस्ते
पवन चक्की, आरओ, पीओएस, पार्सल, लेदर का सामान, सोलर पैनल,प्राकृतिक गैस, निकेल, बायोगैस, नायलॉन, रेल टिकट खरीदना, सस्ता घर देने का प्रयास, टैक्स में मध्यम वर्ग को राहत देने का प्रयास, भूमि अधिग्रहण पर मुआवजा टैक्स मुक्त होगा. सौर उर्जा बैटरी और पैनल के विनिर्माण में काम आने वाले सोलर टैम्पर्ड ग्लास को सीमा शुल्क से छूट.

 

क्या नहीं हुआ जिसकी उम्मीद थी ?

  • डिजिटल ट्रांसेक्शन/ लेनदेन से टैक्स/ चार्ज नहीं हटाया 
  • किराया भुगतान पर ५% टीडीएस देना होगा 
  • महिलाओं के लिए कोई नही छूट नही 
  • मोबाईल के सर्किट बोर्ड पर ड्यूटी लगा दी , नतीजतन महंगे हो जायेंगे मोबाईल 
  • ज्वेलरी महंगी , मांग घट जायेगी 

 

डाउनलोड करें बजट की कॉपी हिंदी में 

 

ये सामान महंगा हो गया – 
मोबाइल फोन, पान मसाला, सिगरेट, एलईडी बल्ब, चांदी का सामान, तंबाकू, हार्डवेयर, सिल्वर फॉयल, स्टील का सामान,  चांदी के गहने, स्मार्टफोन. पान मसाला पर उत्पाद शुल्क 6% से बढ़ाकर 9%, गैर-प्रसंस्कृत तंबाकू पर 4.2 से बढ़ाकर लगभग दोगुना 8.3% कर दिया गया है. तंबाकू (गुटखा) वाले पान मसाला पर उत्पाद शुल्क 10% से बढ़ाकर 12%किया गया. 65 मिलीमीटर तक लंबाई वाली सिगरेट पर उत्पाद शुल्क 215 रुपये प्रति एक हजार से बढ़ाकर 311 रुपये प्रति हजार किया गया. एल्यूमीनियम महंगा, इसके अयस्क और कंसंट्रेट पर आयात शुल्क शून्य से बढ़ाकर 30% किया गया.

मोबाइल फोन विनिर्माण में काम आने वाले प्रिंटेड सर्किट बोर्ड पर सीमा शुल्क शून्य से बढ़ाकर 2% किया गया. एलईडी बल्ब विनिर्माण में उपयोग होने वाले कलपुजों पर पांच प्रतिशत की दर से मूल सीमा शुल्क और 6% प्रतिपूर्ति शुल्क लगेगा. सिगार, सुल्फी (चुरट) पर उत्पाद शुल्क बढ़ाकर 12.5% अथवा प्रति हजार 4006 रुपये जो भी अधिक होगा, किया गया. पहले यह दर 12.5% और 3,755 रुपये प्रति हजार थी.

 

कुल मिलाकर इस बजट में बुरा कुछ ज्यादा नहीं पर अच्छा भी छोटी छोटी मात्र में है ….

देश के लिए एक अच्छा बजट ….

– समीर शर्मा | 9755012734

ohindore_web_final

 

About Sameer Sharma

Founder and Editor, www.ohindore.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


*