Breaking News
Home / Food / ब्रेड में कैंसर को बढ़ावा देने वाले केमिकल्स – पिज़्ज़ा बेस, बर्गर-बन्स , पाव सभी में

ब्रेड में कैंसर को बढ़ावा देने वाले केमिकल्स – पिज़्ज़ा बेस, बर्गर-बन्स , पाव सभी में

मैगी के बाद अब ब्रेड पर बवाल और सवाल …

ब्रेड, पाव, बन और पिज़्ज़ा बेस पर पूरे देश में बहस और ज़बरदस्त दहशत फ़ैली है । सीएसआई की चौंकाने वाली रिपोर्ट में पोटेशियम ब्रोमेट और पोटेशियम आयोडेट के इस्तेमाल का सच सामने आया है, जो की कैंसर, थायराइड की बीमारी का बड़ा कारण हो सकती हैं । मैकडोनाल्ड्स, डोमिनोज, सबवे, निरुलाज़, मॉडर्न सब इसके घेरे में हैं, और सबके सैम्पल फेल हुए हैं , अब आम जनता क्या करे….

 

कुछ सावधानियां:

 

1. अच्छे स्टैंडर्ड्स की रीजनल बेकरीज़ से ही खरीदें ।
2. FSSAI द्वारा सत्यापित ब्रेड ही खरीदें ।
3. यह केमिकल तब ही खतरनाक है जब ब्रेड, पिज़्ज़ा बेस, कुलचा, पाव ठीक से बेक ना हुई हो, अत: देख लें की इन प्रोडक्ट्स में कच्चापन ना हो।

4. सुनिश्चित करें की आपका ब्रेड मेनुफेक्चारर इन दोनों केमिकल्स से रहित बर्ड बनाते हों और वे इसकी गारंटी भी दे | आप सवाल पूछ सकते हैं |

 

 

सीएसई ने कहा, ‘‘लगभग सभी शीर्ष ब्रांड के सैंडविच ब्रेड, पाव, बन और सफेद ब्रेड में पोटैशियम ब्रोमेट या आयोडेट का उच्च स्तर मिला।’’ सीएसई ने खाद्य नियामक एफएसएसएआई से पोटैशियम ब्रोमेट या आयोडेट के इस्तेमाल को तत्काल प्रभाव से प्रतिबंधित करने का आग्रह किया है।

इस पर प्रतिक्रिया जताते हुए ब्रिटानिया ने पोटैशियम ब्रोमेट या आयोडेट का इस्तेमाल करने से इनकार किया और कहा,

‘‘केवल ब्रिटानिया के सभी ब्रेड उत्पाद एफएसएसएआई द्वारा निर्धारित वर्तमान खाद्य सुरक्षा नियमों का 100 प्रतिशत अनुपालन करते हैं।’’ 

 

क्या है मामला :

  • ब्रेड, बन, पाव, पिज़्ज़ा ब्रेड सेहत के लिए ख़तरनाक
  • 38 मशहूर ब्रांड का सैंपल टेस्ट किया
  • 84% ब्रांड टेस्ट में फेल हुए
  • पोटैशियम ब्रोमेट, पोटैशियम आयोडेट का इस्तेमाल
  • दोनों केमिकल 2B कार्सिनोजेन कैटेगरी के
  • पोटैशियम ब्रोमेट से कैंसर हो सकता है
  • पोटैशियम आयोडेट से थाइरॉइड का ख़तरा
  • दोनों केमिकल पर फौरन पाबंदी का सुझाव

पोटैशियम ब्रोमेट पर पाबंदी

  • यूरोपियन यूनियन, कनाडा, नाइजीरिया, ब्राज़ील, दक्षिण कोरिया, पेरू में पाबंदी
  • श्रीलंका में 2001 और चीन में 2005 से पाबंदी
  • पेट दर्द, डायरिया, सिरदर्द, उल्टी, किडनी फेल होने, बहरापन, हाइपरटेंशन, डिप्रेशन जैसी समस्या
  • ब्रेड की न्यूट्रिशनल क्वॉलिटी ख़राब करता है
  • आटे के विटामिन्स और इसेन्शियल फैटी एसिड्स पर असर

पर्यावरण के लिए काम करनेवाली संस्था सेंटर फ़ॉर साइंस एंड एन्वायरमेन्ट ने अपनी स्टडी में पाया था कि राजधानी में बेचे जा रहे ब्रेड और बेकरी के 84 फ़ीसदी उत्पादों में पोटैशियम ब्रोमेट और पोटैशियम आयोडेट के अंश मौजूद हैं. ये सर्वे नई दिल्ली में हुआ है |

इन रसायनों का इस्तेमाल ब्रेड और बेकरी उत्पादों के लिए तैयार किए गए आटे में होता है|  कई देशों में इन रसायनों के इस्तेमाल पर रोक लगी हुई है लेकिन ये भारत में प्रतिबंधित नहीं हैं|

ब्रेड बनाने वाली कंपनियों के एसोसिएशन ने कहा है कि ये सुरक्षित हैं और अमरीका समेत कई देशों में इनका इस्तेमाल हो रहा है.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि लोगों को डरने की ज़रूरत नहीं है और सरकारी जांच की रिपोर्ट का इंतज़ार करना चाहिए.

सीएसई के डिप्टी जायरेक्टर जनरल ने कहा, ”हम एफ़एसएसआई के पोटैशियम ब्रोमेट पर रोक लगाने के फ़ैसले का स्वागत करते हैं, हमें उम्मीद है कि पोटैशियम आयोडेट पर भी जल्द प्रतिबंध लग जाएगा.”

सीएसई के मुताबिक़ ब्रेड बनाने में इस्तेमाल होने वाले इन पदार्थों के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होने के कारण कई देशों में इन पर प्रतिबंधित हैं.

सीएसई का दावा है कि इनमें से एक रसायन टूबी कार्सीनोजेन कैटेगरी में रखा गया है जिसमें पदार्थों से कैंसर और थायरइड से जुड़ी समस्या होने की संभावना जताई जाती है.

Ohindore_Logo1

Team Oh Indore | ohindore@gmail.com 

 

About Sameer Sharma

Founder and Editor, www.ohindore.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


*