Breaking News
Home / Culture / बनी-चाऊ खाया क्या ? इंदौर में धूम मचा रही है, साउथ-अफ्रीकन डिश -कैफे पैलेट पर

बनी-चाऊ खाया क्या ? इंदौर में धूम मचा रही है, साउथ-अफ्रीकन डिश -कैफे पैलेट पर

.

एक NRI डिश – “बनी-चाऊ”

इंदौर में एक नया स्वाद …

बनी-चाऊ , नाम है एक अफ्रीकन डिश का जो साउथ अफ्रीका गए भारतीयों ने शुरू की १९४० के आसपास …ये डिश  वो थी जिसे विशेषकर भारतीय लोग जो रोटी सब्जी खाते थे , के लिए बनाया गया था | 

इसके पीछे की कहानियाँ कई हैं , जिनमे से कुछ इस तरह हैं कि कुछ “बनिया” यानी व्यापारी भारतीय लोगों के चूंकि रोटियां नहीं मिल रही थी तो ब्रेड को अपना लिया और उसके अन्दर का मैदा निकाल कर खोकली ब्रेड में बीन्स और अलग-अलग करीज़ भरने लगे और उसे बड़े चाव से खाते थे , जल्दी ही यह बडी प्रसिद्द हो गई |

कुछ कहते हैं कि भारतीयों को जब रेस्टोरेन्ट में जाने की इजाज़त नहीं थी तब बैक-डोर से उन्हें ब्रेड में सब्जी भरकर जल्दी -जल्दी दे दिया जाता था , अब कारण कुछ भी हो इसके ईजाद होने की वजह इन्डियन ही है | तो ये हो गई एक इन्डियन डिश  , बस पैदा साउथ अफ्रीका के डरबन ईलाके में हुई , तो अब इन्दोरियों का तो लगाव इससे हो ही गया ना ! 

.

लज़ीज़ बनी-चाऊ

 

इंदौर में कैफे-पैलेट में , जो की अपनी ख़ूबसूरती और शानदार खाने के स्वाद और क्वालिटी की वजह से अपनी जगह टॉप पर बना चुका है , यह डिश सर्व कर रहे हैं |

.

कैफे मालिक दीपक चावला बताते हैं की बनी-चाऊ को इंदौर का ज़बरदस्त  रिस्पोंस मिला है , वेज करीज़ और नॉन-वेज करीज़ दोनों में ही इन्दोरीज़ इस जायके को बहुत पसंद कर रहे हैं | 

 

शानदार और टेस्टी ग्रेवी भरी हुई इस ब्रेड-लोफ डेलिकेसी को एक बार तो कैफे पैलेट पर टेस्ट करना बनता है भिया …..वीकेंड पे जाओ और बताऊ कैसी लगी ? बनी-चाऊ …

 

 

CAFÉ PALETTE | कैफे पैलेट

136, Saket Nagar Main Road, Indore

Opening Hour 8:00 AM – 11:00 PM

Call. 07314044441, 8819944446

 

 

 

 

– टीम ओहइंदौर.कॉम | 9755012734

. एक NRI डिश - "बनी-चाऊ" इंदौर में एक नया स्वाद ... बनी-चाऊ , नाम है एक अफ्रीकन डिश का जो साउथ अफ्रीका गए भारतीयों ने शुरू की १९४० के आसपास ...ये डिश  वो थी जिसे विशेषकर भारतीय लोग जो रोटी सब्जी खाते थे , के लिए बनाया गया था |  इसके पीछे की कहानियाँ कई हैं , जिनमे से कुछ इस तरह हैं कि कुछ "बनिया" यानी व्यापारी भारतीय लोगों के चूंकि रोटियां नहीं मिल रही थी तो ब्रेड को अपना लिया और उसके अन्दर का मैदा निकाल कर खोकली ब्रेड में बीन्स और अलग-अलग करीज़ भरने लगे और…

User Rating: 5 ( 1 votes)
वामन हरी पेठे, इंदौर

About Sameer Sharma

Founder and Editor, www.ohindore.com

ये भी तो देखो भिया !

इंदौर की ठण्ड में ज़रूरी है, ये पांच जायके …

Share this on WhatsApp भिया , अगर इंदौर में ठण्ड में ये पांच जायके नहीं …

error: नी भिया कापी नी करने का ...गलत बात