Breaking News
Home / Events / दिवाली के शानदार परंपरागत ५ नाश्ते / स्नैक्स : ये नहीं तो दिवाली नहीं…

दिवाली के शानदार परंपरागत ५ नाश्ते / स्नैक्स : ये नहीं तो दिवाली नहीं…

Indore | 29th October| Indore City | Festival

दिवाली की थाली का प्रसाद 

diwalithali1

 

पूरे मोहल्ले में एक -दुसरे के घरों में जब थाली सजा कर प्रसाद (सारे नाश्तों का थोड़ा-थोड़ा स्वाद ) के साथ खील और बताशे भेजे जाते हैं, महिलायें और बच्चे इसमें मुख्या भूमिका में होते हैं |

क्रोशिया किये हुए कवर से ढंकी थाली और सालभर के गमो, झगड़ों को भुला देने वाली रस्म है दिवाली की थाली सबके यहाँ भेजना ….आइये देखें क्या क्या होता है इस थाली में …जो बन जाता है प्रसाद प्रेम और एकता का …  

 

भारत में दिवाली  दिनों में रसोईघर दुनिया की सबसे ख़ास जगह बन जाती है , शानदार पकवान , व्यंजन , मिठाई और नाश्ते जैसे  चकली,  सेंव, पपड़ी, चिवड़ा, \बेसन-चक्की शक्करपारे, गुझिया,…एक से बढ़कर एक स्वादिष्ट पकवानों से  महक उठता है घर और मोहल्ला  | ये हमारे वो टॉप ५ व्यंजन जिनके बिना अधूरी है दिवाली :

बेसन चक्की 

चने की दाल के बने आटे  यानि बेसन से बना ये मीठा पकवान , हिन्दुस्तानी घरों की मिठाइयों में बहुत लोकप्रिय है | विशेष तौर पर दिवाली पर यह हर घर में बनाया जाता है | बेसन चक्की न केवल त्यौहार का अहसास दिलाती है हमारे मीठे बचपन, माँ  के हाथ के  स्वाद की भी पहचान है | इसका दरदरा स्वाद और भुने बेसन की महक इसे लाजवाब मिठाई और दिवाली स्पेशल बनाती है | हर घर में अलग स्वाद और बेमिसाल …बेसन चक्की 

 

शक्कर पारे 

 

चोकोर पारे , नमकीन  और मीठे , बेसन के और मैदे के …पारे सबसे परे हैं …दिवाली का एक “मस्ट” नाश्ता है “शक्कर पारे ” मज़े की बात है की चाहे नमकीन हों या मीठे इन्हें बोला जाता शक्कर पारे ही है …

सुबह चाय के साथ दिवाली के पूरे पखवाड़े चलते हैं और फिर अगले साल ही मिलते हैं | किसी के बही घर जाओ तो एक ग्लास पानी के साथ पारे ही ऑफर होते हैं यह कह के कि ” बेटा घर के हैं खा ले “

 

चकली

चकली , गोल-गोल चकलियां …मराठी संस्कृति के मालवा में घुल-मील गई इन स्वादिष्ट चक्लियों के चक्कर में पूरा हिंदुस्तान है | अब बेहद आसान बने बनाए इंस्टेंट मिक्स से बही बन जाती है | बच्चे घरों में इसे मशीन से बनाने में बड़ा आनंद उठाते हैं |…..जलेबी की तरह गोल और पारों की तरह नाकिन चकली हर घर की शान और स्वाद की पहचान है | कुच्छ घरों की चकलियों  का बड़ा इंतज़ार करते हैं पड़ोसी …..

 

चिवडा

पोहे से बना चिवडा तला और बिना तला दोनों ही बहुत स्वाद के बानाए जाते हैं | साबूदाना , मूगफली दाना, चना दाल जीरा, हीन्द , तातरी, शक्कर नमक और मिर्च से बने हुए इस चिवड़े की धूम पूरे देश में होती है | दिवाली के प्रासाद थाली में ये महत्वपूर्ण किरदार है | 

 

गुझिया / करंजी

शायद सबसे पुराना पकवान गुंझिया / करंजी फिर से महाराष्ट्र और उत्तरप्रदेश की दें है | शाही मसाला यानि बादाम, काजू और किशमिश भरे मसाले के साथ फ्राइड इस मिठाई का दबदबा रहता है पूरे त्यौहार पर , रानी की तरह ….

तो फिर थाली भेज रहे हैं ना आप हमारे लिए …

– समीर शर्मा 

 

Indore | 29th October| Indore City | Festival दिवाली की थाली का प्रसाद    पूरे मोहल्ले में एक -दुसरे के घरों में जब थाली सजा कर प्रसाद (सारे नाश्तों का थोड़ा-थोड़ा स्वाद ) के साथ खील और बताशे भेजे जाते हैं, महिलायें और बच्चे इसमें मुख्या भूमिका में होते हैं | क्रोशिया किये हुए कवर से ढंकी थाली और सालभर के गमो, झगड़ों को भुला देने वाली रस्म है दिवाली की थाली सबके यहाँ भेजना ....आइये देखें क्या क्या होता है इस थाली में ...जो बन जाता है प्रसाद प्रेम और एकता का ...     भारत में दिवाली  दिनों…

User Rating: Be the first one !
वामन हरी पेठे, इंदौर

About Sameer Sharma

Founder and Editor, www.ohindore.com

ये भी तो देखो भिया !

Top 5 Desi Cold drinks : इंदौर के देसी शीतल पेय : यानि समर के कूलर्स : मॉक्टेल्स के पिताजी

Share this on WhatsApp गर्मी के दिन आ गए भिया … इंदौर यूँ तो फेमस …

error: नी भिया कापी नी करने का ...गलत बात