Breaking News
Home / Indore / स्पीती वैली के ६ ड्रोन विडिओ – आपको मोहित करेंगे खूबसूरत स्पीती वैली के एरियल शूट्स

स्पीती वैली के ६ ड्रोन विडिओ – आपको मोहित करेंगे खूबसूरत स्पीती वैली के एरियल शूट्स

इंदौर के प्रांशु दुबे जिन्होंने अपनी फोटोग्राफी सर्विसेज कंपनी “पिक्सेलडू” बनाई और एरियल फोटोग्राफी, ड्रोन विडीयोज़ के लिए हमेशा चर्चा में रहते हैं |

इस बार अपने बिजनेस के ऑफ सीज़न में प्रांशु अपने दोस्तों भारत बासवानी और चैतन्य  के साथ निकल पड़े अपनी बनाई हुई “एपिक ट्रिप” पे, जो मुंबई से होती हुई सीधी स्‍पीती वैली तक थी …साथ में थी सिन्दूरी , इनकी गाडी …. और साथ में शुरू हुई  अद्भुत और शानदार एरियल  ड्रोन वीडियोग्राफी …

स्‍पीतीवैली में शूट हुई इन वीडियोज को देखने के बाद आप यहाँ जाने के प्लान्स ज़रूर बनायेंगे…..

४० दिन की इस एपिक ट्रिप में २० जून से ३० जुलाई तक ये लोग ६८०० किमी का सफर तय करके पहुंचे स्पीती वैली  … स्‍पीती वैली हिमाचल में हैं और तिब्बत और भारत के बीच का एक ठंडा और पहाड़ी इलाका है | स्‍पीती का मतलब है मध्य-भूमि …

स्पीति के ६ अद्भुत वीडियोज देकहिये और बनाईये प्लान यहाँ घूमने जाने का …..प्रांशु का एक्सपीरिएंस आपको खासी मदद करेगा ….

1.Key Monastery – की मठ, की मोनेस्ट्री 

की गोम्पा

हिमाचल प्रदेश की लाहौल स्‍पीती जिले में काजा से 12 किलोमीटर की दूरी पर है।इस मठ की स्‍थापना 13वीं शताब्‍दी में हुई थी। यह स्‍पीती क्षेत्र का सबसे बड़ा मठ है। यह मठ दूर से लेह में स्थित थिकसे मठ जैसा लगता है। यह मठ समुद्र तल से 13504 फीट की ऊंचाई पर एक शंक्‍वाकार चट्टान पर निर्मित है। स्‍थानीय लोगों का मानना है कि इसे रिंगछेन संगपो ने बनवाया था। यह मठ महायान बौद्ध के जेलूपा संप्रदाय से संबंधित है। २५० रु प्रतिदिन में खाना-पीना और शेयर्ड रूम के साथ देखिये बौद्ध संतों के जीवन को करीब से यहाँ पर …

.

2. Dhankar Village / धान्गकर गाँव 

धान्गकर गाँव स्पीती की राजधानी हुया करता था , यह ३८९४ मीटर की ऊँचाई पर स्थित  टाबो और काजा  के बीच में स्थित है | यहाँ एक खूबसूरत झील भी है | 

 

3. Kibber Village – किब्बर 

किब्बर एक छोटा सा गाँव है , और ४२७० मीटर की ऊँचाई पर स्थित है | यहाँ एक मठ , वन्य जीव अभ्यारण्य (वाइल्ड लाइफ सेंच्युरी) भी है चिचम- किब्बर रोपवे रोमांचित करने वाला है जो की ८०० फीट ऊँचाई से जाता है |

 

4. Chandrataal- चंद्रताल झील 

इसके चंद्रमा जैसे आकार के कारण इसका यह नाम पड़ा। लाहौल-स्पीति जिले के लाहौल क्षेत्र में स्थित यह दुर्गम झील ट्रेकिंग व कैंपिंग जैसी रुचि वाले साहसी पर्यटकों में अति प्रसिद्ध है।

चन्द्र ताल का व्यास लहभग २.५ किलोमीटर है तथा झील के चारों ओर विशाल मैदान हैं, जो कि वसंत/गरमी के मौसम में कई प्रकार की वनस्पति व जंगली फूलों से भर जाता है। चरवाहे इसे चरागाहों के रूप में प्रयोग करते हैं और पर्यटक कैंप लगाने के लिए।[1] झील के बीचों बीच एक टापू भी है, जिसे समुद्र टापू कहा जाता है।

आश्चर्य की बात यह भी है कि इस झील में पानी के आने का कोई स्रोत दिखाई नहीं पड़ता जबकि निकलने का रास्ता स्पष्ट है। इसका अर्थ यह लगाया जा सकता है कि पानी का स्रोत झील में धरती के नीचे से ही है।

 

5. Tabo – ताबो 

ताबो हिमाचल प्रदेश के लाहौल स्‍पीति जिला में स्थित एक छोटा सा शहर है। यह शहर स्‍पीति नदी के तट पर बसा हुआ है। ता‍बो समुद्र तल से 3050 मीटर की ऊंचाई पर रेककौंग पियो तथा काजा सड़क के बीच स्थित है। यह शहर एक प्रसिद्ध बौद्ध मठ ताबो गोम्‍पा के चारो तरफ बसा हुआ है। यह मठ हिमालय क्षेत्र का दूसरा सबसे महत्‍वपूर्ण मठ माना जाता है। स्‍थानीय लोगों के अनुसार इस मठ का निर्माण 996 ई. में हुआ था।

 

6. Langza – लानग्ज़ा 

लान्गज़ा,  यह स्पीती वैली के  बोल शेप्ड ईलाके में एक छोटा सा गाँव १४५०० फीट की ऊँचाई पर स्थित इस गाँव को विश्वा का सबसे उंचा गाँव बताया जाता है जहा आप गाडी ले जा सकते हैं …

 

 

इंदौर के प्रांशु दुबे जिन्होंने अपनी फोटोग्राफी सर्विसेज कंपनी "पिक्सेलडू" बनाई और एरियल फोटोग्राफी, ड्रोन विडीयोज़ के लिए हमेशा चर्चा में रहते हैं | इस बार अपने बिजनेस के ऑफ सीज़न में प्रांशु अपने दोस्तों भारत बासवानी और चैतन्य  के साथ निकल पड़े अपनी बनाई हुई "एपिक ट्रिप" पे, जो मुंबई से होती हुई सीधी स्‍पीती वैली तक थी ...साथ में थी सिन्दूरी , इनकी गाडी .... और साथ में शुरू हुई  अद्भुत और शानदार एरियल  ड्रोन वीडियोग्राफी ... स्‍पीतीवैली में शूट हुई इन वीडियोज को देखने के बाद आप यहाँ जाने के प्लान्स ज़रूर बनायेंगे..... ४० दिन की इस…

User Rating: 4.63 ( 2 votes)
Indore Ka Raja - Ganeshotsav

About Sameer Sharma

Founder and Editor, www.ohindore.com

ये भी तो देखो भिया !

फिर से बिठाएं मिटटी के गणेश -आइये मनाएं ईकोफ्रेंडली गणेशोत्सव

Share this on WhatsApp “ग्रीन गणेशा – मिटटी के गणेश ”  एक निवेदन सभी शहरवासीयों …