Breaking News
Home / Events / आपकी सभी समस्याओं का हल , सिर्फ एक कॉल पर – इंदौर में शुरू हो रही एक अनोखी हेल्पलाइन

आपकी सभी समस्याओं का हल , सिर्फ एक कॉल पर – इंदौर में शुरू हो रही एक अनोखी हेल्पलाइन

#IndoreKiAwaz #ADF #AlokDubeyFoundation

.

.

मेरी आवाज़ अब – इंदौर की आवाज़ 

.

 

बिरले ही लोग होते हैं जो दूसरों की तकलीफों के लिए अपना समय, धन और संसाधन खर्च करते हैं और अपने बुद्धिबल और सामर्थ्य से दुनिया में नई क्रान्ति , लोगो में विश्वास और आशा जगा देने का काम करते है , इस भावनात्मक देश में यह सिर्फ फिल्मो में ही नहीं कई बार हकीकत में देखने को भी मिलता है |

 

इंदौर में एक ऐसी ही एक शख्सियत का नाम उभरा है…..

इस गैर राजनैतिक व्यक्ति की अपनी एक जीवन शैली है और साथ ही यह एक मिशन लेकर पिछले कुछ वर्षों से जनसेवा , कला और संस्कृति के क्षेत्र में शहर के लिए एक मिसाल बन गया है – नाम है आलोक दुबे …

 

 

मध्यभारत में सबसे बड़े गणेश उत्सव (इंदौर का राजा )का आयोजन हो, जिसमे धार्मिकता नहीं बल्कि आध्यात्मिकता छलकती हो, कला और संस्कृति के सबसे बेहतरीन आयोजन हो , प्रतिभाओं को प्रोत्साहन , उनके लिए हरसंभव मदद , वृद्धों के लिए विशेष सेवाएँ हों , अंगदान के लिए लोगों को प्रेरित करना हो और अब एक नया सेवा प्रकल्प इंदौर की आवाज़ हो ..

आलोक दुबे के नए नवेले आयोजनों , उनकी भव्यता , उनका अंदाज़ और इस व्यक्ति सुलभता ने पूरे प्रदेश में इनकी ज़बरदस्त लोकप्रियता स्थापित की है |

 

 

 

 

कौन है आलोक दुबे ?

तकनीकी शिक्षा प्राप्त स्नातक, वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफर , एक अद्भुत आयोजनकर्ता , एक मीडिया हाउस और मासिक पत्रिका धर्मयुद्ध के प्रधान सम्पादक और बिजनेसमैन …

काश्मीरी पंडित परिवार में जन्मे और अपने प्रयासों से खुद को इस मुकाम पर लाने वाले आलोक दुबे शहर में एक नई जागृति और युवाओं में नया जोश लाना चाहते हैं | इसके लिए उन्होंने अपना एक गैर लाभकारी संगठन तैयार किया जिसका नाम है “आलोक दुबे फाउंडेशन”  

लोगों की हरसंभव मदद के लिए इनका फाउंडेशन २४ घंटे तैयार रहता है | आलोक दुबे की ज़बरदस्त संगठन क्षमता ने उनके पास ५० हज़ार से अधिक वोलेंटियर्स की टीम खड़ी कर दी है |

कई वर्ल्ड रेकॉर्ड्स और संस्था में ७० हज़ार के अधिक सदस्य पूरे शहर में कई समाज सेवा के कार्यों में लगे हुए हैं |

 

 

मिशन इंदौर की आवाज़ क्या है?

 

कई बार कॉलोनी में अनैतिक कार्य, गुंडागर्दी, छेड़छाड़ या अन्य समस्याओं को आम आदमी किसी से न कह पाता है और ना ही कोई उसकी समस्या सुनता है | ऐसे में आलोक दुबे जैसे सक्षम नागरिकों के इस तरह के सेवा प्रकल्प बड़े ही मौजूं होते हैं |

अब आपकी आवाज़ कोई नहीं दबा सकता

अलोक दुबे फाउंडेशन के इस नए और अद्भुत प्रयास ने पूरे इंदौर में खलबली मचा दी है विशेषकर राजनेताओं और जनसेवकों में और साथ ही ख़ुशी की लहर जनता के बीच में |

इंदौर की आवाज़ में आपकी किसी भी स्सामजिक, व्यक्तिगत समस्या जो शासन – प्रशासन , नगर निगम , पोलिस, IDA या किसी संस्था से जुडी है और आपके प्रति अन्याय होकर लंबित पड़ी है , कोई आपकी सुन नहीं रहा है तो बस आप आलोक दुबे फाउंडेशन को फोन लगाइए , दस्तावेज़ समे उनके पास पहुँच जाइए , फाउंडेशन की टीम आपके लिए कम करेगी जब तक की आपको न्याय नहीं मिल जाता |

 

 

इंदौर की जनता के लिए एक अनोखी पहल, शहर हित और जन हित हेतु श्री आलोक दुबे द्वारा एक प्रयास…इंदौर की आवाज़ , अब आलोक दुबे हैं आपके साथ… अब सिर्फ एक कॉल आपको मुक्त करेगा आपकी परेशानियों से ….अपनी समस्या और उंसके सम्पूर्ण तथ्यों और कागज़ात के साथ कॉल करें…आज ही …74711-1101674711-1101874711-11019#IndoreKiAwaz #AlokDubey #AlokDubeyFoundation

Posted by Alok Dubey Foundation on Saturday, 14 April 2018

 

आलोक दुबे कहते हैं कि सक्षम व्यक्ति धन,बल और प्रभाव से अपने सभी कार्य करवा लेता है लेकिन हमारे ९५% नागरिकों का क्या जो माध्यम या निम्न वर्ग से आते हैं और दिन भर सिर्फ अपने जीवनयापन के लिए व्यस्त रहते हैं , उनके लिए सोचने वाल कोई नहीं और ना ही उनके लिए कोई करने वाला , शासन की योजनाये हैं पर लोग इन तक नहीं पहंच पाते या उनके प्रकरण वर्षों से लंबित हैं, इसलिए मैंने इस योजना को अमल में लाने का निशचय किया  …इस प्राका का या पहला निजी प्रयास होगा जो शासन के साथ मिलजुलकर इस सिस्टम को ठीक करेगा और लोकतंत्र में जनता का विशवास लौटाएगा |

चाहें तो ऑनलाइन भी दर्ज करवा सकते हैं अपनी समस्याएं 

इस आईकॉन पर  क्लिक करें  

.

 

जब ओह इंदौर के लिए हमें पूछा कि  इन सब से आलोक दुबे को क्या मिलेगा ?

आलोक दुबे : “मैं अपने व्यवसाय से संतुष्ट हूँ और ईश्वर की कृपा से अब उसी को वापस इस समाज में देना चाहता हूँ जो मुझे यहाँ से मिला है …यही मेरा लक्ष्य और उद्देश हैं |”

.

 

इसके लिए इन्होने कई हेल्पलाइन नम्बर्स और साथ जगह जगह शिविर लगाने का निर्णय लिया है |

.

ये हैं नम्बर्स और यहाँ लगेगा पहला शिविर

 .

.

जन समस्याओं के लिए ज़मीनी कार्य करने वाले आलोक दुबे को शुभकामनाएं

और बहुत बहुत धन्यवाद |

 

. www.alokdubeyfoundation.org 

 

शालिनी शर्मा,

सम्पादक, ओहइंदौर.कॉम   


 

About Sameer Sharma

Founder and Editor, www.ohindore.com

ये भी तो देखो भिया !

प्रकृति के रंगों से खेलिए होली….जानिए कैसे बना सकते हैं नेचुरल कलर्स इस होली पे ….

Share this on WhatsApp सनावादिया | 22 फरवरी, 2018| Jimmy McGilligan Center for Sustainable Development, …