Breaking News
Home / Indore / बधाई हो इंदौर …हमारे चिड़ियाघर में शेरनी “मेघा”ने दिया ४ बच्चों को जन्म : अब हो जायेंगे १० शेर

बधाई हो इंदौर …हमारे चिड़ियाघर में शेरनी “मेघा”ने दिया ४ बच्चों को जन्म : अब हो जायेंगे १० शेर

इंदौर प्राणी संग्रहालय | इंदौर | समीर शर्मा

शेरनी मेघा ने ४ बच्चों को जन्म दिया 

इंदौर के चिड़ियाघर (ZOO)  में आज एक खुशखबरी सुनाई दी, शेरनी (lioness) मेघा ने कल देर रात (गुरुवार)  ४ शावकों को जन्म दिया है , ये सभी सुरक्षित और स्वस्थ हैं और श्रेणी अभी इनके साथ पिंजरे के अंदरूनी हिस्से में ही है और बाहर अभी नहीं आ रही है | अमूमन ३ से ४ दिनों या १ हफ्ते में यह बाहर निकलेगी | 

 

शेरनी मेघा और उसके शावक पूरी तरह स्वस्थ है। शावकों के जन्म लेने से चिड़ियाघर में जहां अधिकारियों, कर्मचारियों में खुशी की लहर दौड़ गई। वहीं यहां आने वाले दर्शकों में भी उत्साह देखा गया।  अभी शावकों के नर और मादा होने का पता नहीं चला। मुख्य रूप से उनके स्वास्थ्य को लेकर टीम काम कर रही है।

 

 

 

 

तीसरी बार हुई है गर्भवती

इंदौर प्राणी संग्रहालय  में रहते हुए मेघा तीसरी बार गर्भवती हुई है। पहली बार में उसने चार शावकों को जन्म दिया था, लेकिन चारों की मौत हो गई थी। दूसरी बार में जन्मे शावक अभी चिड़ियाघर में मौजूद हैं। बता दें कि फिलहाल जू में अभी कुल 6 शेर हैं।

Exclusive Pic of Megha with Cubs : Manoj Chaudhary
Exclusive Pic of Megha with Cubs : Manoj Chaudhary

क्या क्या तैयारी की गई 

इनका का प्रेग्नेंसी टाइम करीब 300 दिनों का होता है। मेघा फिलहाल २९५  दिन पूरे कर चुकीथी। चिड़ियाघर के अधिकारियों को उम्मीद थी  कि एक हफ्ते के अंदर मेघा 4 से 5 शावकों को जन्म देगी।

उसके लिए एक अलग बाड़े की व्यवस्था की गई है।  ‘मेघा को शेरों के बाड़े से निकाल कर अलग बाड़े में शिफ्ट कर दिया गया है।

यहां उसे प्राकृतिक वातावरण देने के लिए गुफा भी बनाई गई है।’ डॉक्टर्स की टीम मेघा के स्वास्थ्य का पूरी तरह से ध्यान रख रही थी । दिन में दो बार मेघा का चेकअप किया जा रहा था । अभी मेघा पूरी तरह स्वस्थ्य है और अभी तक सबकुछ सामान्य चल रहा है।

 

बहुत लोकप्रिय हैं मेघा और आकाश 

 

Indorezoo_megha_akash

 

जू में लगभग तीन साल पहले बिलासपुर से लाए गए मेघा और आकाश के यहां चार बच्चों का जन्म हुआ। 7 साल की मेघा और लगभग 10 साल के आकाश को देखने के लिए दर्शकों में खासा क्रेज होता है। दोनों कुछ ही समय में ज्यादा लोकप्रिय हो गए हैं। फिलहाल चारों बच्चों के आसपास मां किसी को फटकने नहीं दे रही है। प्रबंधन का कहना है कि कैमरे के जरिये नजर रखेंगे। ताकि किसी भी स्थिति में मां या खुद बच्चों को नुकसान न पहुंचा दे।

 

समीर शर्मा 

ohindore_web_final

About Sameer Sharma

Founder and Editor, www.ohindore.com

ये भी तो देखो भिया !

प्रदेश की पहली शासकीय बोन-मेरो ट्रांसप्लांट यूनिट इंदौर के एम व्हाय अस्पताल में स्थापित होगी

Share this on WhatsApp   एम.वाय. हॉस्पिटल में होगा बोन-मेरो ट्रांसप्लांट    मध्यप्रदेश में भी …