Breaking News
Home / Events / खाता और कमाता इन्दोरी फ़ूडी – राकेश दवानी , इन्दोरी ज़ायका

खाता और कमाता इन्दोरी फ़ूडी – राकेश दवानी , इन्दोरी ज़ायका

समीर शर्मा | इंदौर| १६-१२-२०१६

इंदौर को फ़ूड केपिटल यूँ ही नहीं कहा जाता है | यहाँ इंदौर के मालवी खानों के अलावा , राजस्थानी, पंजाबी, अवधी, साउथ इन्डियन , इटालियन, मैक्सिकन , लेबनीज़ और न जाने कहाँ कहाँ के खाने मिलते हैं , पर इन्दोरी रंग में …और बन जाते है टेस्टी ….उनके मूल स्वरुप से भी ज्यादा टेस्टी …

लोग भी शौकीन हैं , अलग अलग स्वाद , अलग अलग खाने , और राकेश दवानी ने इसी खाने के शौक को दिया है एक नया रूप , शायद राकेश एक मात्र ऐसा युवा है जो इंदौर में खाने के पैसे लेता है , देता नहीं ,,,,”जी भिया सही समझे …..”

राकेश दवानी जिन्होंने “इन्दोरी ज़ायका “ नाम से अपने ब्रांड को बनाया है इंदौर के पहले फ़ूड आत्रेप्रेन्योर हैं, कुच्छ साल पहले अपने खाए हुए कुछ डिशेस के रिव्यू को लिखा एक पेज पर और उसके अद्भुत रिस्पोंस को देखकर राकेश ने इसे एक “ओपोर्चुनिटी ”  के रूप में लिया और आज वो इंदौर के सबसे सफल फूडी और फ़ूड ब्लॉगर और टेस्टर हैं |

अपने पैशन को प्रोफेशन बनाना सभी का सपना होता है पर यह मुमकिन बहुत कम को नसीब है और इस युवा अवस्था में राकेश दवानी की चपलता , उनकी व्यवसाय और फ़ूड की समझ और उसे लोगों तक पहुंचाने की  कला ने राकेश को सफलतम फूडी के रूप में स्थापित कर दिया है | 

सेंट पॉल से पढ़े और पेशेस से सीए कर रहे राकेश ने भारत , पकिस्तान , इटली, मैक्सिकन, लेबनीज़, पर्शियन सभी फ़ूड टेस्ट किये हैं और उनकी फ़ूड जर्नी अभी बहुत आगे तक जाने वाली है | 

खाने के अलावा :

राकेश ने फ़ूड टेस्टिंग को नए नए प्रयोगों से उंचाईयों पर ला दिया है और अब आलम यह है की इंदौर का हर रेस्टोरेंट, होटल , कैफे या ठिया राकेश की रेटिंग को अपने स्वाद से सीधे जोड़ता है | राकेश ने इन्दोरी जायकों पर अपनी किताब “इन्दोरी जायका” लिखी है जो काफी पोपुलर हुई और इंदौर में ही २५०० से ज्यादा कॉपी बिकीं | 

इसके अलावा फूडीज़ की फ़ूड ब्लोगर्स मीट , कुकिंग वर्कशॉप जैसे आयोजन भी राकेश करते रहते हैं |

 

फ़ूड वाक :

एक बड़े ग्रुप में इकट्ठे होकर अलग अलग स्वाद के ठियों पर जाना और खाना फ़ूड वाक है | कैफे- रेस्टोरेंट्स , होटल्स, ठेले जो भी कोई अनूठा स्वाद है इस फ़ूड वाक का हिस्सा होता है |

 

इंदौर में फ़ूड वाक का कांसेप्ट राकेश दवानी ने दिया अभी तक १५ महीने में ही उनकी १० फ़ूड वाक्स हो चुकी है, और अब तो उनमे विदेशी फूडीज़  भी इंदौर के स्वाद को चखने आते हैं |  फ़ूड वाक ११.० जल्दी ही होने वाली है |

 

@ कैफ़ेपैलेट, इंदौर  , फ़ूड वाक के दौरान राकेश और फूडीज़

 

फ़ूड फेस्टिवल्स :

पानी पूरी, बिरयानी , पिज़्ज़ा और चीज़ फेस्टिवल जैसे इवेंट्स राकेश ने इंदौर में किये और इंदौर की फ़ूड  इंडस्ट्री  को हैपनिंग बनाया है | 

पानीपूरी फेस्टिवल

बिरयानी किंग फेस्टिवल

फ़ूड फेस्टिवल/ कार्निवाल भी राकेश आयोजित करते हैं , ऐसा ही एक बड़ा आयोजन यशवंत क्लब  इंदौर में इंदौर का पहला फ़ूड कार्निवाल आयोजित हो रहा है १७-१८ दिसंबर जिसमे इंदौर के सभी धुरंधर खानों का जायका एक ही जगह मिलेगा |

पहले दिन इसमें सभी के लिए मुफ्त में इंट्री खुली है , दुसरे दिन यह टिकिट (२० रु ) से इंट्री देगा |

इस कार्निवाल में इंदौर की जायकेदार सिंधी चाट से लेकर गराडू, भुट्टे का कीस, मोमोस, बाजरे की खिचड़ी, दूध-जलेबी और सभी फेमस फूड्स अपलब्ध रहेंगे। इसके साथ ही शॉपिंग के लिए होगा वेस्टर्न, इथनिक, हैंडबैग्स, और फुटवियर का बाजार भी।

फूड-शॉपिंग के साथ किड्स जोन, 51 लाइव परफार्मेंस, लाइव स्केच, नेल आर्ट व टैटू मेकिंग भी रहेगा। बचपन की यादों का मजा भी इस कार्निवाल में मिलेगा जहां आप बॉम्बे मिठाई, इमली, स्वीट सिगरेट और पेप्सी का मजा ले सकेंगे।

 

उपलब्द्धियां /अचीवमेंट्स 

  • राकेश अब डिस्कवरी चैनल पर भी इंदौर के स्वाद के चर्चे करते नज़र आयेंगे , २५ दिसंबर को ८ बजे डिस्कवरी चैनल राकेश को शोकेस करेगी |
  • अभी २०१६ तक सोशल मीडिया (फेसबुक, इन्स्टाग्राम )पर इनके १ लाख २० हज़ार से भी ज्यादा फोलोअर्स हैं |
  • मात्र २३ वर्ष की आयु में सीए फाईनालिस्ट 
  • एक साथ ५१ इन्दोरी जायकों को एक साथ सर्व करने का वर्ल्ड रिकोर्ड भी राकेश और इन्दोरी जायका के नाम पर दर्ज  है| 

तो ये हैं राकेश दवानी , इन्दोरी जायका के फाउंडर और इंदौर के एक सफलतम फूडी , इनका कहना है जो भी करो मन का और मन से करो , सफलता अपने आप आपके कदम चूमेगी …सही में राकेश आजे के युवाओं के लिए एक आइडियल आन्त्रेप्रेन्योर हैं ….खूब खाओ राकेश..

 

समीर शर्मा | ओह इंदौर .कॉम | इंदौर का सिटी पोर्टल  

 

 

समीर शर्मा | इंदौर| १६-१२-२०१६ इंदौर को फ़ूड केपिटल यूँ ही नहीं कहा जाता है | यहाँ इंदौर के मालवी खानों के अलावा , राजस्थानी, पंजाबी, अवधी, साउथ इन्डियन , इटालियन, मैक्सिकन , लेबनीज़ और न जाने कहाँ कहाँ के खाने मिलते हैं , पर इन्दोरी रंग में ...और बन जाते है टेस्टी ....उनके मूल स्वरुप से भी ज्यादा टेस्टी ... लोग भी शौकीन हैं , अलग अलग स्वाद , अलग अलग खाने , और राकेश दवानी ने इसी खाने के शौक को दिया है एक नया रूप , शायद राकेश एक मात्र ऐसा युवा है जो इंदौर में खाने…

User Rating: 4.61 ( 4 votes)
वामन हरी पेठे, इंदौर

About Sameer Sharma

Founder and Editor, www.ohindore.com

ये भी तो देखो भिया !

इंदौर में विश्व के सबसे बड़े अस्थाई पंडाल में “अयोध्या के राजा” गणेशोत्सव दशहरा मैदान पर

Share this on WhatsApp इंदौर | दशहरा मैदान | गणेशोत्सव Ayodhya ka Raja | Ganeshotsav …

error: नी भिया कापी नी करने का ...गलत बात