Breaking News
Home / Indore / Alok Dubey Foundation / इन्दोरी युवाओं ने जानापाव में बनाया ट्रेकिंग का वर्ल्ड रिकॉर्ड – 4029 लोगों ने एक साथ की ट्रेकिंग

इन्दोरी युवाओं ने जानापाव में बनाया ट्रेकिंग का वर्ल्ड रिकॉर्ड – 4029 लोगों ने एक साथ की ट्रेकिंग

समीर शर्मा | जानापाव | वर्ल्ड रिकॉर्ड | ट्रेकिंग

 

लक्ष्य हुआ पूरा – ट्रेकिंग वर्ल्ड रिकॉर्ड ४०२९ लोगों के साथ 

२९ जनवरी की सुबह शहर से ४०किमी दूर स्थित जानापाव पहाड़ी पर शहर के युवाओं ने ४०२९ लोगों के साथ मिलकर एक नया ईतिहास रच दिया |

 

janapav-_map

 

क्यूँ चुना जानापाव  ?

जनापाव इंदौर से ४० किमी दूर एक पौराणिक और ऐतिहासिक स्थल है ,  यह पवित्र पर्वत इसलिए भी महत्वपूर्ण है की यहाँ पर ब्राह्मण समाज के संस्थापक भगवान् परशुराम की जन्म्स्थली होने की मान्यता है | इंदौर के लोगों को अपने शहर पास स्थित इस स्थल की जानकारी देने और पौराणिक स्थल को लोकप्रिय करने हेतु इसे चुना गया |

 

क्या थी चुनौती ?

जब इंदौर के कुछ युवाओं ने मिलकर इस विश्व कीर्तिमान को करने की ठानी तो सबसे बड़ी चुनौती थी इतने लोगों को इकट्ठा करना , साधन जुटाना , ट्रांसपोर्टेशन , खाना , सुरक्षा और न जाने क्या क्या …..और साथ ही इसमें होने वाला खर्च …

पर इंदौर में आगे बढ़ने में मदद करने वाले लोगों की कमी नहीं , इन युवाओं को साथ दिया शहर की प्रसिद्द गैर लाभकारी संस्था आलोक दुबे फाउन्डेशन  और उसके संस्थापक आलोक दुबे ने और सारी  चुनौतियों को अपनी जिम्मेदारी पर लेकर वाकिंग वॉंडरर्स के इन युवाओं के साथ इस कीर्तिमान को रच ही डाला | 

lakshya1

कैसे बदला फन एक्टिविटी को सोशल रेस्पोंसिबिलिटी में 

” आज के युवाओं को आप गंभीर विषयों पर ध्यान दिलाकर उनसे सामाजिक कार्यों में सहयोग चाहते हैं तो हमें उनकी भावनाओं और आयु का ध्यान रखना होगा यही सोच उन्हें हमसे जुड़ने में सफल बनायेगी “

यह कहना था आलोक दुबे का जिन्होंने अपने गैर लाभकारी संगठन “आलोक दुबे फाउंडेशन” के माध्यम से इस मनोरंजक ट्रेकिंग गतिविधि को एक बहुत मानवीय  और सामाजिक मुहीम “अंगदान” से जोड़ दिया और वहां पर आने वाले सभी लोगो ने इसमें अपना फॉर्म भरकर अंगदान की इस मुहीम को अपना समर्थन दिया | 

laksya-2

आलोक जी ने यहाँ लोगों को अंगदान के लिए प्रोत्साहित करने के लिए फॉर्म भी भरवाए और अब इन सभी के साथ मिलकर अंगदान जागरूकता का महा अभियान चलाया जाएगा | आलोक दुबे फाउन्डेशन ने इंदौर को अंगदान जागरूक शहर बनाने का संकल्प लिया हैं |

adfstall
लोगों ने बढ़ चढ़ कर भाग लिया

मस्ती भी खूब हुई :

adf-%e0%a5%a9

.

शानदार इंतजाम किये गए :

आलोक दुबे फाउन्डेशन ने जो सुविधाएं इस पूरे इवेंट में दी वो इन्दोरियों को हमेशा याद रहेंगी , यहाँ पर ट्रेकिंग के दौरान बैठने की विश्राम व्यवस्था , जगह जगह निशुल्क और ठन्डे पानी की व्यवस्था जो की ताम्बे के लोटे से पीने की थी ताकि प्लास्टिक बोतल से प्रयावरण और जनापाव क्षेत्र को हानि न पहुंचे , अम्बुलेंस , पोलिस बल , डॉक्टर्स , सहयोगी वालंटियर्स , तथा सभी प्रतिभागियों को सर्टिफिकेट , जगह जगह मोटिवेशनल कोट्स और साईनेजेस …

happypeople
सभी प्रतिभागी बहुत खुश थे अंगदान की इस की मुहीम से जुड़कर और सर्टिफिकेट पाकर

.

ऐसा सुनियोजित कार्यक्रम वैसे भी आलोक दुबे फाउन्डेशन की पहचान बन चुका है और उनके अयोध्या के राजा गणेशोत्सव का पूरा प्रदेश बेसब्री से इंतज़ार करता है ..

.

धन्यवाद सभी का 

No automatic alt text available.

आलोक दुबे जी इसका पूरा श्रेय ईश्वर और सभी आने वाले प्रतिभागियों , संस्थाओं , जानापाव मंदिर प्रबंधन , जानापाव गाँव के निवासियों, सरपंच , पोलिस विभाग , प्रशासन , मीडिया और अपने वालंटियर्स को देते हैं जिनके बिना यह संभव न था | 

volunteer
वालंटियर्स

तो शानदार बधाई वर्ल्ड रिकॉर्ड की और हाँ अब इंतज़ार रहेगा आलोक दुबे फाउन्डेशन के अगले कार्यक्रम का ….

समीर शर्मा | 9755012734

ohindore_logo_web

वामन हरी पेठे, इंदौर

About Sameer Sharma

Founder and Editor, www.ohindore.com

ये भी तो देखो भिया !

कॉफ़ी का मौसम , इंदौर के टॉप ५ कॉफ़ी हाउस और कैफ़े, A lot can happen over Coffee…

Share this on WhatsApp . कॉफ़ी ….सुनते ही सफ़ेद कप में महके हुए कहवे की …

error: नी भिया कापी नी करने का ...गलत बात