Breaking News
Home / Indori / Indori of the day / Artist of the Day / इंदौर में आज होगा एक बेहतरीन नाटक “जाना था रोशनपुरा ” – वीरेंद्र सक्सेना , रवि महाशब्दे
Virendra Saxena , Ravi Mahashabde , Indore by Sameer Sharma

इंदौर में आज होगा एक बेहतरीन नाटक “जाना था रोशनपुरा ” – वीरेंद्र सक्सेना , रवि महाशब्दे

समीर शर्मा | इंदौर | आर्ट्स | थियेटर 
.
“जाना था रोशनपुरा”  कब , कहाँ और क्यों ?
.
जी थियेटर की इस सार्थक पहल की शुरुआत हमने इंदौर से  की क्यूंकि इंदौर का प्यार , दोस्त और कल्चर हमें यहाँ लाया और इस की शुरुआत हमने इंदौर से की …
.
jana-tha-roshanpur-1920-x-700new
.
आज २० जनवरी को शाम ७ बजे से , रविन्द्र नाट्यगृह में 
.
 सिटी वेब पोर्टल ओहइंदौर.कॉम  के साथ ख़ास बातचीत करते हुए श्री वीरेंद्र सक्सेना और इंदौर के साथी कलाकार श्री रवि महाशब्दे कहते हैं  कि जी थियेटर की पहल पर  20 जनवरी शाम ७ बजे रवीन्द्र नाट्य गृह में  इंदौर में मंचन किया जाएगा।  इसे अभिनेता वीरेंद्र सक्सेना द्वारा निर्देशित किया गया हैं , इसे लिखा है  समता सागर ने और  रवि महाशब्दे और वीरेंद्र सक्सेना, समता  सागर के साथ इसमें अभियान करते नजर आएंगे। 
 
.
यह बातचीत हमारे प्रिय साथी , दोस्त , गाइड और एक बेहतरीन इंसान
श्री तनवीर फारूखी की वजह से हो पाई , उनके बिना यह मुमकिन न था ,
तनवीर भाई को हमेशा की तरह धन्यवाद ...
 .
प्लॉट/ कहानी
 
पहली बार दामाद और ससुर के संबंधों के प्लॉट पर आधारित नाटक “जाना था रोशनपुरा”  का ऐसा मंचन इंदौर में होगा जिसके बारे में प्रसिद्द है कि लोगों की आँखें और मन भर जाता है, इसकी मर्मस्पर्शी कहानी, संवाद और किरदारों की अदायगी पर   …..
 
– यह नाटक एक पिता, बेटी और उसके पति की कहानी है। बेटी मरते वक्त अपने पिता और पति से अलग अलग कसम लेती है, कि  वे दोनों  उसकी मृत्यु के बाद एक  समय यानि १ साल तक एक साथ रहेंगे और आज उस शर्त का आखिरी दिन है …
– ये नाटक उसकी आखिरी इच्छा को पूरा करने के लिए पति और उसके पिता द्वारा किए गए संघर्ष की कहानी है।
 – इस नाटक के बारे में बात करते हुए वीरेंद्र सक्सेना ने कहा, यह दो पुरुषों की दिल को छू लेने वाली कहानी है, जिन्हें एक ऐसे इंसान की आखिरी इच्छा पूरी करने के लिये एक साथ मजबूरन रहना पड़ता है, जिसे वो सबसे ज्यादा प्यार करते हैं।
 – ये नाटक पंजाब, उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश, गुजरात, पश्चिम बंगाल और राजस्थान के प्रमुख शहरों में खेला जाएगा।
.
 .
 फैक्ट 
.
इंदौर में जब इस नाटक का पिछली बार डेढ़ साल पहले मंचन  हुआ था तो हाउसफुल था, और साथ ही ४०० से भी ज्यादा लोगों को बिना देखे लौटाना पडा था … यह बताते हुए वरिष्ठ थियेटर आर्टिस्ट और जाने-माने फिल्म अभिनेता श्री वीरेंद्र सक्सेना का उत्साह देखते ही बनता है …..
.
 
bareilly live news windermere theatre fast 27011617
.
कैसे बढेगा इंदौर में थियेटर ?
.
  • इंदौर में संभावनाएं बहुत है , कोई इच्छाशक्ति वाला प्रबुद्ध , सक्षम व्यक्ति, या समूह को आगे आना होगा ताकि इंदौर का थियेटर आगे बढे |
  • आज थियेटर के लिए हॉल बुक करने में ही ४०-५० हज़ार रुपये लगते हैं तो यह एक अपने आप में चुनौती है थियेटर को आगे ले जाने में | 
  • यदि कोई प्रभावशाली व्यक्ति आगे आते हैं तो हम भी तैयार हैं इंदौर में खूब सारे नाटक , वर्कशॉप करने के लिए ….
  • .

रवि महाशब्दे और वीरेंद्र सक्सेना जी से बात करके लगा कि अब ये नाटक को छोड़ना नहीं है …मैं तो जा रहा हूँ …आप भी ज़रूर आयें इस बेहतरीन प्रस्तुति को देखने के लिए …

.

बाबा छोड़ना नहीं इस बेहतरीन नाटक को ……एक नंबर है रवि भिया का ये नाटक 

.

टिकिट्स यहाँ मिलेंगे 

Image result for book now

.

या आप सीधे रवीन्द्र नाट्य गृह पर आकर भी खरीद सकते हैं …

.

समीर शर्मा 

ohindore_logo_web

वामन हरी पेठे, इंदौर

About Sameer Sharma

Founder and Editor, www.ohindore.com
error: नी भिया कापी नी करने का ...गलत बात