Breaking News
Home / Culture / सुप्रीम कोर्ट का आदेश, सिनेमाघरों में फिल्म शुरू होने से पहले राष्ट्रगान बजाया जाए

सुप्रीम कोर्ट का आदेश, सिनेमाघरों में फिल्म शुरू होने से पहले राष्ट्रगान बजाया जाए

सर्वोच्च अदालत ने राष्ट्रगान के समय पर्दे पर तिरंगा दिखाना और सिनेमा हॉल में मौजूद सभी लोगों के लिए खड़े होना भी अनिवार्य कर दिया है…

सुप्रीम कोर्ट ने सिनेमाघरों में फिल्म से पहले राष्ट्रगान के संबंध में अहम निर्देश जारी किया है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, सुप्रीम कोर्ट ने निर्देश दिया है कि पूरे देश के सिनेमाघरों में फिल्म शुरू होने से पहले राष्ट्रगान बजाना अनिवार्य होगा.

सुप्रीम कोर्ट ने ये भी कहा है कि राष्ट्रगान के दौरान स्क्रीन पर राष्ट्रीय ध्वज भी दिखाना होगा.

 

सिनेमाघर

इसमें ये भी कहा गया है कि सिनेमाघर में राष्ट्रगान और तिरंगे के सम्मान में हर व्यक्ति को खड़ा होना चाहिए.

केंद्र सरकार ने इस बात पर सहमति जताई है कि इस आशय का आदेश सभी राज्यों तक पहुंचाया जाएगा और इसके बारे में इलेक्ट्रानिक और प्रिंट मीडिया में जागरुकता भी फैलाई जाएगी.

 

क्या था मामला ?
श्याम नारायण चौकसे, जबलपुर की याचिका में कहा गया था कि किसी भी व्यावसायिक गतिविधि के लिए राष्ट्गान के चलन पर रोक लगाई जानी चाहिए, और एंटरटेनमेंट शो में ड्रामा क्रिएट करने के लिए राष्ट्रगान को इस्तेमाल न किया जाए।

याचिका में यह भी कहा गया था कि एक बार शुरू होने पर राष्ट्रगान को अंत तक गाया जाना चाहिए, और बीच में बंद नहीं किया जाना चाहिए याचिका में कोर्ट से यह आदेश देने का आग्रह भी किया गया था कि राष्ट्रगान को ऐसे लोगों के बीच न गाया जाए, जो इसे नहीं समझते इसके अतिरिक्त राष्ट्रगान की धुन बदलकर किसी ओर तरीके से गाने की इजाज़त नहीं मिलनी चाहिए। याचिका में कहा गया है कि इस तरह के मामलों में राष्ट्गान नियमों का उल्लंघन है, और यह वर्ष 1971 के कानून के खिलाफ है। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने इस याचिका पर सुनवाई करते हुए अक्टूबर में केंद्र सरकार को नोटिस जारी कर जवाब मांगा था।

 

एक हफ्ते का दिया समय
अदालत ने अपने आदेश में कहा है कि राष्ट्रगान को सम्मान देने के लिए दर्शकों को अपनी सीटों पर खड़ा भी होना पड़ेगा। सुप्रीम कोर्ट ने आदेश पर अमल करने के लिए एक हफ्ते का समय दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में कहा है कि आपत्तिजनक वस्तुओं या जगहों पर राष्ट्रगान को प्रिंट नहीं किया जाना चाहिए। यही नहीं कोई भी शख्स राष्ट्रगान का उपयोग कर व्यवसायिक फायदा नहीं उठा सकता है।

 

वामन हरी पेठे, इंदौर

About Sameer Sharma

Founder and Editor, www.ohindore.com
error: नी भिया कापी नी करने का ...गलत बात