Breaking News
Home / Culture / छाँछ के फेकू और पप्पू गिलास , सिर्फ श्री शिव शंकर दूध दही भण्डार इंदौर पर : गर्मी में इन्दोरी ड्रिंक्स

छाँछ के फेकू और पप्पू गिलास , सिर्फ श्री शिव शंकर दूध दही भण्डार इंदौर पर : गर्मी में इन्दोरी ड्रिंक्स

समीर शर्मा | इंदौर | फ़ूड

.

“यहाँ भांग नहीं मिलती बच्चा” ये चेतावनी है या डिस्क्लेमर ये तो पता नहीं पर बड़ी सफाई और पुरजोर तरीके से लिखा है इस ६० साल पुरानी इस  दुकान पर …

हम पहुंचे “श्री शिव शंकर दूध दही भण्डार” देशी शीतल पेय यानि कोल्ड ड्रिंक्स के एक ‘भोत’ / बहुत पुराने ठीये इस पर , सन १९५६ से लगातार दही-मक्खन -लस्सी- छाँछमें इंदौर को तर कर रहे श्री प्रीतम फुलवानी जी की दुकान पर ...

प्रीतम भैया अपने पिताजी के समय से (सन ५६ से ) लोगों को देशी दूध- दही – लस्सी और छाँछ जैसे बेहतरीन शीतल पेय (कोल्ड ड्रिंक्स ) की सेवा दे रहे हैं |  इनकी लस्सी और छांछ एक बार चख ली, तो हर बार जवाहर मार्ग पर , शनी मंदिर (ईमली साहिब गुरुद्वारे के पहले , राजबाड़ा वाले ) के चक्कर अपने आप पूरे परिवार और दोस्तों के साथ बढ़ ही जायेंगे दोस्तों |

 

IMG_8078
प्रीतम भैया की दुकान का दृश्य , कई महीनो के बाद ये मौका मिला कि वे अकेले बैठे थें नहीं तो भिया मेरा कैमरा ४-५ बार निराश होकर लौट चुका है…

.

यहाँ की विशेषताएं :

 

“एक पप्पू , एक  फेंकू” ये किसी को चिढाने या बुलाने के लिए नहीं बोल रहा हूँ भिया , ये तो छाँछ और लस्सी के ग्लास की साइज़ के नाम हैं ….हाँ जी चौंकिए मत …इनके बीच में मीडियम साइज़ भी है …यहाँ भी पप्पू सबसे छोटा और फेंकू सबसे बड़े ग्लास का नाम है !

यहाँ मिलती है छाँछ , लस्सी , छाँछ और लस्सी मिक्स , मक्खन कटोरी (शक्कर और मसाले दोनों में ) और  दही … इन सब आइटम्स को मैंने खाया और एक बात बहुत जोर से पहली ही घूँट में लगी, वो थी इसकी क्वालिटी , यकीन मानिए इनकी लस्सी, दही और मख्खन को खाकर आपको गाँव याद ना आ जाये तो पैसे वापिस ! 😉 

.

IMG_8082
शुद्ध और ताज़ा मख्खन , एक कटोरी ज़रूर खाइए , तबियत खुश हो जाएगी

.

इसीलिए पैसा भी अच्छा लगता है , और कीमत के लिए बहुत सारे ज्ञान-वाक्य यहाँ प्रीतम दादा ने लगा दिए हैं जिनको पढ़ कर आप समझ जायेंगे की दोनों कानो में शुद्ध सोने की सुन्दर  बालियाँ  पहने इस व्यक्तित्व की क्या खासियत है !

 

 

IMG_8094
प्रीतम जी का दर्शन/ फिलॉसफी और मेनू भी

.

इनके मसाले बड़े ही सरल और शुद्ध , सेंधा नमक , सदा नमक, शक्कर और भुने जीरे का दरदरा मसाला , जब इसकी बनी छाँछ गले में जाती है तो कसम से जीवन में जो कुछ थोड़े सुख हमें मिलते हैं ये उन्ही की लिस्ट में आता है !

.

IMG_8083

 

प्रीतम दादा बड़े ही कम बोलने वाले (इंदौर में ये थोडा मुश्किल सा साउंड करता है ) हैं और बड़े ही मधुर स्वभाव के व्यक्ति हैं | 

 

IMG_8090
छाँछ बनाते हुए प्रीतम दादा और एक इंदौरी ग्राहक

.

आप जायेंगे ये मुझे पता है , उन्हें बताएं की उनकी इस शुद्धता के सेवा को हमने इन्टरनेट पर भी डाला है , उन्हें अच्छा लगेगा और हमें भी !  जाइये और इस पुरातन दूकान की सेवाओं का मज़ा लीजिये पूरे परिवार या दोस्तों के साथ! 

.

समीर शर्मा | 9755012734 

वामन हरी पेठे, इंदौर

About Sameer Sharma

Founder and Editor, www.ohindore.com

ये भी तो देखो भिया !

बनी-चाऊ खाया क्या ? इंदौर में धूम मचा रही है, साउथ-अफ्रीकन डिश -कैफे पैलेट पर

Share this on WhatsApp . एक NRI डिश – “बनी-चाऊ” इंदौर में एक नया स्वाद …

error: नी भिया कापी नी करने का ...गलत बात