Breaking News
Home / Events / Campaign / आसान से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन और हो जाएगा RTE के तहत एडमिशन,आप भी बनिए किसी के मेंटर फ्री रजिस्ट्रेशन में सहायक बनकर

आसान से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन और हो जाएगा RTE के तहत एडमिशन,आप भी बनिए किसी के मेंटर फ्री रजिस्ट्रेशन में सहायक बनकर

.

इंदौर में 1 मई से RTE अभियान .

शिक्षा का अधिकार अधिनियम (RTE) 

निशुल्क और स्तरीय शिक्षा हेतु निर्धन और वंचित परिवार के बच्चों का प्राइवेट स्कूल्स में एडमिशन 

.

आप और हम मिलकर करें मदद इन बच्चों को ऑनलाइन फॉर्म भरने में और उन्हें पहुंचाए शिक्षा के मंदिर तक 

कलेक्टर श्री नरहरि  का प्रयास  डोनेट योर टाइम, ओहइंदौर.कॉम और इंदौर के सभी नागरिकों के साथ

No automatic alt text available.

.

क्या है यह योजना “शिक्षा का अधिकार” ?

शिक्षा का अधिकार अधिनियम, 2009 के सरकार द्वारा अंतर्गत कमज़ोर एवं वंचित समूह के परिवारो के बच्चों का मान्यता प्राप्त अशासकीय विद्यालयों (प्राइवेट स्कूल) मे सत्र 2017 -18  में ऑनलाइन लॉटरी के माध्यम से नि:शुल्क प्रवेश दिलाना है जिस हेतु ऐसे बच्चे पात्र होगें जिनके अभिभावक निम्न वर्ग से संबंधित हो…

.

आसन सी प्रक्रिया 

फॉर्म डाउनलोड कर भर लें –> दस्तावेज़ इकठ्ठा करें –> ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करें 

सबसे पहले जाने कि कौन हैं इसके लिए पात्र / इलिजिबल ?

वंचित समूहः-

  • अनुसूचित जाति परिवार
  • अनूसूचित जनजाति परिवार
  • वनभूमि के पटृटाधारी परिवार
  • विमुक्त जाति परिवार

निःशक्त बच्चे (मेंडिकल बोर्ड से जारी प्रमाण पत्र अनुसार)

कमजोर वर्गः परिवार :-

  • गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले परिवार
  • अनाथ बच्चे

 

आवेदन पत्र दिनांक 01 /05/2017 से निम्न स्थानों से प्राप्त किये जा सकेंगेः-

  • गैर अनुदान / मान्यता प्राप्त अशासकीय स्कूल
  • जनशिक्षा केन्द्र
  • बी.आर.सी./बी.ई.ओ. कार्यालय
  • जिला शिक्षा अधिकारी/जिला शिक्षा केन्द्र कार्यालय
  • ओहइंदौर .कॉम  पर भी आॅनलाइन आवेदन पत्र का प्रारूप उपलब्ध है, जिसको यहाँ से डाउनलोड किया जा सकता है

 

आवेदन पत्र जमा करने की शर्तें :-

  • आवेदक अपना आवेदन पत्र आॅनलाइन अथवा आॅफलाइन प्रक्रिया में से किसी एक माध्यम से दिनांक 1 से 15 मई  2017  तक जमा कर सकते हैं ।
  • एक आवेदक केवल एक ही आवेदन जमा कर सकेगा।
  • यदि आवेदक एक से अधिक स्कूलों में प्रवेश हेतु आवेदन करना चाहता है तो वह इसी आवेदन में स्कूलों के नाम प्राथमिकता क्रम से दर्ज कर सकता है। आवेदक को एक से अधिक आवेदन जमा करने की आवश्यकता नहीं है।
  • आॅनलाइन लाॅटरी के माध्यम से सीट आवंटन हेतु शालावार/कक्षावार आरक्षित सीटों की जानकारी आरटीई पोर्टल पर उपलब्ध होगी।
  • सूची में स्कूल का ग्राम/वार्ड, स्कूल का पड़ोस एवं विस्तारित पड़ोस की जानकारी भी प्रर्दषित होगी।
  • यह सूची संबधित विकासखंड के जनपद षिक्षा केन्द्र (बीआरसी कार्यालय), जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय एवं जिला शिक्षा केन्द्र कार्यालय में भी चस्पा की जायेगी।

 

 

आवेदन करने की प्रक्रिया निम्नानुसार हैः-

पूर्ण रूप से आॅनलाइन प्रक्रियाः-

आवेदक स्वयं पोर्टल पर ऑनलाइन  जाकर निर्धारित फार्म में आॅनलाइन पंजीयन कर सकेगा। इस स्थिति में हार्ड काॅपी जमा करने की आवश्यकता नहीं होगी। फार्म के साथ पात्रता सम्बंधित कोई भी एक दस्तावेज अपलोड किया जाना होगा। आवेदक द्वारा पोर्टल से जनरेट प्रति को अपने पास सुरक्षित रखा जायेें।

आवेदक की यह जिम्मेंदारी होगी कि वह आवेदन देने के पहले यह पुष्टि कर ले कि उसे प्रवेश की पात्रता है, अर्थात वह वंचित समूह अथवा कमजोर वर्ग की श्रेणी का है और वह संबंधित स्कूल के ग्राम/वार्ड अथवा परिभाषित पड़ोस अथवा पड़ोस की विस्तारित सीमा के अंतर्गत निवासरत् है। प्रत्येक स्कूल की पड़ोस की सीमा एवं विस्तारित पड़ोस की सीमा कंड़िका 1 में उल्लेखित अनुसार बीआरसी द्वारा प्रकाशित की जा चुकी है।

 

.

बनिए शिक्षा मित्र 

यहाँ हमें, यानि इंदौर के पढ़े लिखे- जागरूक नागरिकों को इन बच्चों की  

मदद करनी है , इनके रजिस्ट्रेशन फॉर्म को ऑनलाइन भरवा कर …

No automatic alt text available.

आप अपने आप को वालेंटियर  के रूप में दर्ज कर सकते हैं हमें व्हाट्स एप पर जुड़कर 

हमारा नंबर है 9755012734 .

.

कौन से महत्वपूर्ण और आवश्यक दस्तावेज़ लगेंगे ? 

सबसे पहले पालक / अभिभावक ध्यान रखें कि प्रवेश के लिए निम्नलिखित दस्तावेज़ आवश्यक होंगे , यह सबसे पहले इकठ्ठा करलें और फोटोकॉपी प्रमाणित कर लें :

निवास का प्रमाण पत्र :
ग्राम, शहर, वार्ड/ पड़ोस / पड़ोस की सीमा का निवासी होने के बच्चों के पालक के लिए यह दस्तावेज़ ज़रूरी हैं :

१) मतदाता परिचय पत्र
२) राशन कार्ड/ पात्रता पर्ची / समग्र पर्ची /आई डी
३) पासपोर्ट / ड्राइविंग लाइसेंस
४) बिजली बिल / पानी बिल
५) ऐसा कोई भी शासकीय दस्तावेज़ जिसमे बच्चों के पालक का निवास का पता अंकित हो |

संयुक्त परिवार होने की स्थिति में में परिवार के मुखिया के नाम का पत्र/ दस्तावेज़ भी मान्य होगा |

 

वंचित समूह और कमज़ोर वर्ग का प्रमाण पत्र :

  • वंचित समूह में अनुसूचित जाति / जनजाति / विमुक्त जाति का प्रमाण पत्र / राशन कार्ड में उल्लेख
  • भाई बहन का प्रमाण पत्र भी मान्य है |
  • संयुक्त परिवार के मुखिया का प्रमाण पत्र भी मान्य है |
  • वनग्राम का पट्टा भी मान्य है |
    विकलांगो के लिए मेडिकल सर्टिफिकेट जिला मेडिकल बोर्ड से मान्य है |

 

कमज़ोर वर्ग के लिए :

  • कमज़ोर और गरीबी की रेखा के नीचे रहने वालों के परिवार के लिए BPL कार्ड / अन्त्योदय कार्ड मान्य है |
  • अनाथ बच्चों को कमज़ोर वर्ग में नामंकित किया गया है अत: उनके लिए जिला कार्यक्रम अधिकाति महिला -बाल विकास द्वारा जारी प्रमाण पत्र मान्य होगा |

 

आयु संबंधी प्रमाण पत्र :

  • नर्सरी / प्री प्रायमरी : न्यूनतम आयु ३ वर्ष से ५ वर्ष
  • कक्षा १ में प्रवेश के लिए न्यूनतम आयु ५ से ७ वर्ष
  • आयु की गणना १६ जून २०१७ की स्थिति में की जायेगी | यह प्रमाण स्कूल आवंटन के पश्चात दस्तावेज़ परीक्षण के समय प्रस्तुत किया जाना होगा |

जन्म प्रमाण पत्र :

जन्म /मृत्यु/विवाह रजिस्ट्रीकरण अधिनियम 1886 के अनुसार यदि जन्म प्रमाण पत्र उपलब्द्ध न हो तो निम्नलिखित में से एक आयु का प्रमाण समझा जायेगा :

  • १) अस्पताल / सहायक नर्स / प्रसाविका (ANM) का रजिस्टर रिकॉर्ड
  • २) आंगनवाडी का रिकॉर्ड
  • ३) पालक द्वारा बच्चे की आयु का स्व घोषणा पत्र (एफिडेविट)

 

.

इसके बाद होगा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन 

आवेदन पत्रों को पोर्टल पर पंजीकृत किया जाना:- :-

  • समस्त आवेदनों को आर.टी.ई. पोर्टल पर दिनांक 1 मई  से 15 मई  2017  तक निम्नानुसार पंजीकृत किया जायेगा। यह सिर्फ ऑनलाइन ही भरा जायेगा |
  • आवेका को स्वयम ही  आवेदन को पोर्टल पर पंजीकृत करना होगा ।  आवेदन पत्र के पंजीयन उपरांत पोर्टल से पावती जनरेट होगी, जिसे आवेदक को संभल कर रखना होगा |
  • निशुल्क प्रवेश के लिए आवेदक एक ही आवेदन दे सकता है और अपने निवास के पास स्थित  ३ स्कूल के नाम उनक्ले डायस कोड के साथ चयन हेतु लिख सकता है |  निवास के पास तीन स्कूल न होने पर जितने हों लिखे जा सकते हैं | प्राथमिकता के आधार पर ३ स्कूल को क्रम में लिखें|
  • फॉर्म के साथ ऑनलाइन दस्तावेज़ में पात्रता सम्बंधित कोई भी न्यूनतम  एक  दस्तावेज उपलोड करना होगा |
  • १५  मई के बाद आवेदन स्वीकार नहीं होंगे |
  • इसके बाद आवेदन में यदि कोई त्रुटी हुई है तो आवेदनसुधार की प्रक्रिया होगी |  जो २० मई तक होगी |
  • आवेदन के बाद लाटरी सिस्टम से स्कूल आवंटन किया जायेगा |

 पोर्टल पर पंजीकृत आवेदनों को त्रुटि सुधार हेतु प्रर्दशित करना:-

आवेदक द्वारा आॅनलाइन दर्ज किये गये अथवा स्कूलों/बीआरसीसी द्वारा दर्ज आवेदनों को पोर्टल पर प्रर्दषित किया जायेगा। इसका उद्वेष्य है कि यह सुनिश्चित किया जा सके कि आवेदक ने जो आवेदन दिया है वह पोर्टल पर सही पंजीकृत किया गया हो। इसकी सूचना संबंधित आवेदक को डाक  के द्वारा भेजी जाएगी।

संबंधित अशासकीय स्कूल अथवा बीआरसी कार्यालय में प्राप्त आवेदनों को दिनांक 16 से 20  मई  तक पोर्टल के साथ-साथ अशासकीय स्कूल तथा बीआरसी कार्यालय पर भी प्रर्दशित किया जायेगा। यदि आवेदक को अपने दिये गये आवेदन पत्र में तथा पोर्टल पर पंजीकृत आवेदन में अंतर प्रतीत होता है तो इस अवधि में आवेदक द्वारा त्रुटि सुधार हेतु अशासकीय स्कूल जिसमे आवेदन जमा किया था अथवा संबंधित विकासखंड के विकासखंड क्षेत्रीय समन्वयक को अपने आवेदन की पावती की मूल प्रति दिखाते हुये/छायाप्रति उपलब्ध कराते हुये त्रुटि सुधार हेतु आवेदन किया जायेगा।

बनिए शिक्षा मित्र : करें मदद बच्चों को रजिस्ट्रेशन में 

प्रशिक्षण 

डोनेटयोरटाइम और ओह इंदौर.कॉम इस हेतु सभी नागरिकों जो की वोलेंटियर होंगे उन्हें मुफ्त प्रशिक्षण और सामग्री उपलब्द्ध करवाएगा और आप हर वर्ष इस तरह के सेवा प्रोजेक्ट्स के अहम् हिस्सेदार होंगे |  

हमसे जुड़ें 9755-12734 पर व्हाट्स एप पर 

.

रजिस्ट्रेशन के बाद क्या होगा ?

आनलाईन लाटरी:-

पोर्टल पर दर्ज लाॅक किये गये आवेदनों को ही लाटरी प्रक्रिया में सम्मिलित किया जायेगा। केन्द्रीकृत सिस्टम से पारदर्षी तरीके से रेण्डमाइजेशन के माध्यम से दिनांक ३१ मई 2017  को एन.आई.सी. मध्यप्रदेश  द्वारा आॅनलाइन लाॅटरी के माध्यम से छात्रो को स्कूलों  का आवंटन किया जायेगा। त्रुटिपूर्ण, अपूर्ण, एक से अधिक बार पंजीकृत आवेदनो को निरस्त कर लाॅटरी प्रक्रिया में शामिल नहीं किया जायेगा एवं इनकी सूची कारण सहित पोर्टल पर उपलब्ध होगी।

ग्राम/वार्ड, पड़ोस, विस्तारित पड़ोस के अतिरिक्त निवासरत आवेदको के आवेदनो को लाॅटरी प्रक्रिया में शामिल नही किया जायेगा।

आवेदक को स्कूल का आवंटन पत्र एवं सूचना:-
लाटरी प्रक्रिया के उपरांत आवंटित सीट की जानकारी की सूचना आवेदक को उसके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एसएमएस के माध्यम से प्रदान की जायेगी एवं यह सूची पोर्टल पर भी उपलब्ध रहेगी। आवेदको को स्कूल आवंटन की जानकारी अशासकीय स्कूल/बीआरसीसी कार्यालय द्वारा उनके सूचना पटल पर भी उपलब्ध करायी जायेगी।

स्कूल में प्रवेश की प्रक्रिया:-

प्रत्येक गैर अनुदान मान्यता प्राप्त अशासकीय स्कूल के लिये कलेक्टर के अनुमोदन से नोडल अधिकारी नियुक्त किये जांयेगे, जिसकी पोर्टल पर स्कूल के साथ मेंपिंग की जायेगी, ताकि प्र्रवेषार्थी को भी नोडल अधिकारी की जानकारी प्राप्त हो सके।  यह आवेदन एवं दस्तावेज अशासकीय शाला में संबंधित बच्चे के रिकार्ड के रूप में रखे जायेंगे। यदि नोडल अधिकारी किसी भी प्रवेशार्थी को दस्तावेजों के सत्यापन उपरांत पात्र नही पाता है, तो उसे अपात्र होने का कारण दर्शाना होगा।

.

और भी किसी अन्य जानकारी के लिए ओह इंदौर .कॉम पर विजिट करें या शिक्षा-मित्र से संपर्क करें , इनकी लिस्ट हम ५ मई को पोर्टल पर प्रदर्शित करेंगे | 

समीर शर्मा 

एडिटर , ओहइंदौर .कॉम 

.

Indore Ka Raja - Ganeshotsav

About Sameer Sharma

Founder and Editor, www.ohindore.com

ये भी तो देखो भिया !

कलेक्टर नरहरि ने की घायलों की मदद अपनी गाडी से घायलों को पहुंचाया अस्पताल एक और अनुकरणीय कार्य का उदाहरण पेश किया

Share this on WhatsApp शालिनी शर्मा | इंदौर | पी नरहरि | इंदौर कलेक्टर “This …