Breaking News
Home / Arts / अनन्त चतुर्दशी “झांकी” चल समारोह

अनन्त चतुर्दशी “झांकी” चल समारोह

अनंत चतुर्दशी गणेश विसर्जन समारोह २७ सितम्बर की रात्री रवीवार को …

क्या  झांकी है बाबा ! इंदौर की २३ झांकियां ..अखाड़े , निशान , ढोल ताशे , झिलमिल करते हजारों बल्ब, तलवारें, बनेठी , अखाड़ों की रंग बिरंगी बनियानों में पेलवान लोग , ईनाम के स्टेज,  और लाखों की संख्या में  इन्दोरी 

jhanki5'

अनंत चतुर्दशी की उत्सवी रात रवीवार को फिर झिलमिल-झिलमिल झांकियों और अखाड़ों के कारवां द्वारा  इस गौरवशाली परंपरा को शिद्दत से निभाया जाएगा । 

हर वर्ष की तरह इंदौर में इस बार भी कुल २३ झांकियों  के साथ अनन्त चतुर्दशी समारोह मनाया जायेगा | रवीवार की रात्री को झाँकियो का निकलना प्रारम्भ होगा , शाम ४ बजे से ही  कोठारी मार्किट , एम जी रोड जाने वाले रस्ते बंद कर दिए जायेंगे | 

इंदौर में कपड़ा मीलों के मजदूरों के अथक प्रयास का नतीजा है इंदौर की झांकियां वर्ल्ड फेमस हो गई हैं | हर बार की तरह मालवा मिल , हुकुमचंद मिल , स्वदेशी मिल , कल्याण मिल , भंडारी मिल , नगर निगम, आई डी ए , राजकुमार मिल , नंदानगर साख सहकारी संस्था ने अपनी झांकियां सजा ली है | 

साथ में चलेंगे अखाड़े और दिखाएँगे करतब , छोगालाल  उस्ताद व्यायाम शाळा , चादंगीराम अखाड़ा , भोलागुरु और बीसियों अखाड़े आयेंगे मैदान में आने छोटे -बड़े पेल्वानों और खलीफाओं के साथ ..

Ganeshvisarjan

रातभर जेल रोड, राजबाड़ा और जवाहर मार्ग से गुजरेंगे यह झांकियां , दूर दूर से परिवार इसे देखने जुटेंगे और निहारेंगे इंदौर की इस झांकी संस्कृति  को | 

कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी पी.नरहरि के निर्देशानुसार अनंत चतुर्दर्शी के अवसर पर प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी गणेश विसर्जन चल समारोह के मार्ग पर 13 वाच टावर रखे जायेंगे। प्रत्येक वाच टावर पर डॉक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ की ड्यूटी लगायी गयी है। यह स्टाफ 27 सितम्बर को शाम 5 बजे से जुलूस विसर्जन कार्यक्रम तक कार्यरत रहेगा | 

Indore Ka Raja - Ganeshotsav

About Sameer Sharma

Founder and Editor, www.ohindore.com