Breaking News
Home / Events / Bahai’s are celebrating Twin Manifestations B’Day Event
Bahai community of Indore

Bahai’s are celebrating Twin Manifestations B’Day Event

बहाउल्लाह और महात्मा बाब का जन्मदिवस 

इंदौर शहर और दुनिया भर के बहाई धर्मानुयायी इस वर्ष से इस युग के ईश्वरावतार द्वारा दिए गए कैलेण्डर के अनुसार बहाउल्लाह (बहाई धर्म के संस्थापक) और महात्मा बाब (बहाउल्लाह के अग्रदूत ) का जन्मदिवस १३-१४ नवंबर को मनाएंगे |

bahaiihouseofworship
Baha’i Temple- New Delhi

“पूरी पृथ्वी एक देश है और समस्त मानवजाति  इसकी  नागरिक है |” का सन्देश देने वाले युगावतार बहाउल्लाह (ईश्वर की आभा) जिन्हें भगवान् श्रीकृष्ण, मुहम्मद, ईसा मसीह , जरथुस्त्र की वापसी माना जाता है और कल्कि के रूप में इनकी मान्यता है |

बहाउल्लाह, बहाई धर्म के संस्थापक थे। वे इरान में जन्मे थे। उन्होने करीब 150 वर्ष पहले बहाई धर्म की स्थापना की और पूरी दुनिया को संदेश दिया कि हर एक युग मे ईश्वर मानवजाति को शिक्षित करने हेतु मानव रूप मे अवतरित होतें हैं और वे इस युग के अवतार हैं और इस विश्व को एकता और शान्ति के सूत्र मे बांधने आये हैं |बहाउल्लाह ने घोषणा की कि वे ही वह बहुप्रतीक्षित अवतार हैं जिसकी प्रतीक्षा विश्व के हर धर्मं के अनुयायी कर रहे हैं | कृष्ण कि वापसी कल्कि रूप मे, बुद्ध की वापसी मैत्रयी अमिताभा के रूप मे, मुहम्मद साहब की वापस मेहदी अल्ल्हेस्लाम के रूप मे, ईसा का पुनरागमन उनके पिता कि आभा के रूप मे आदि आदि ….बहाउल्लाह अब सम्पूर्ण धरती को एक करने के लिए आये है और उन्होंने धर्मं, जाती, भाषा, देश, रंग आदि के समस्त पूर्वाग्रह को त्याग कर एक हो जाने के लिए अपना अवतरण लिया है | यही बहाई धर्म का प्रमुख उद्देश्य है | बहाउल्लाह ने 100 से ज्यादा पुस्तकें और हजारों प्रार्थनाएं लिखी थीं।

bahaullahshrine
कल्कि अवतार बहाउल्लाह की समाधी

दिल्ली का कमल मन्दिर (लोटस टेम्पल) बहाई धर्म के विश्व मे स्थित सात मंदिरों मे से एक है। पूरी दुनिया में बहाई धर्मावलंबी हैं, जो बहाउल्लाह को ईश्वरीय अवतार मानते हैं।

ठीक उसी प्रकार महात्मा बाब जो कि बहाउल्लाह से पहले आये थे यह बताने को की जिस ईश्वरीय अवतार की प्रतीक्षा युगों युगों से मानव जाती कर रही है वह शीघ्र ही आने वाले हैं | महात्मा बाब भी ईरान में जन्मे और घोर मुस्लिम समाज के सुधारवादी विचारधारा और नए अवतार होने के दावे के फल्स्वरूप कट्टरपंथी मुस्लिम सत्ता ने उन्हें शहीद कर दिया था |

महात्मा बाब की समाधि

समस्त बहाई जगत इस अनूठे पर्व को मनाने के लिए अति उत्साहित है और इंदौर सहित पूरे विश्व के बहाई इसे १३-१४ नवंबर को इसे मनाएंगे |

इंदौर के स्थानीय बहाई आध्यत्मिक सभा ने इसे सभी लोगों के साथ विजयनगर स्थित बहाई भवन में आयोजित किया है |

बहाई अपनी सामजिक सुधार कार्यक्रमों और नैतिक गतिविधियों के लिए पूरे विश्व में जाने जाते हैं | विश्व शान्ति और मानव एकता ही बहाई धर्म की मूल शिक्षाएं हैं |

Indore Ka Raja - Ganeshotsav

About Sameer Sharma

Founder and Editor, www.ohindore.com

ये भी तो देखो भिया !

आर्गेनिक कलर्स बनाना सीख कर, भर रहीं हैं महिला सशक्तिकरण का रंग इस होली पर : जिम्मी मगिलिगन सेंटर फॉर सस्टेनेबल डेवलपमेंट सनावदिया इंदौर पर

Share this on WhatsApp समीर शर्मा | जिम्मी मगिलिगन सेंटर फॉर सस्टेनेबल डेवलपमेंट | सनावदिया, …