Breaking News
Home / India / पासपोर्ट बनवाना हुआ और आसान : आज आये ये नए और आसान नियम, १० दिन में बनेगा पासपोर्ट

पासपोर्ट बनवाना हुआ और आसान : आज आये ये नए और आसान नियम, १० दिन में बनेगा पासपोर्ट

नई दिल्ली: विदेश मंत्रालय , भारत सरकार 

 

भारत सरकार ने पासपोर्ट बनवाने के नियमों में बड़े बदलाव कर दिए हैं. पहले के नियमों के तहत 26 जनवरी 1989 के बाद पैदा हुए लोगों को पासपोर्ट बनवाने के लिए जन्म प्रमाण पत्र देना अनिवार्य होता था. लेकिन सरकार ने अब इस नियम में बदलाव कर दिया है.

 

india-passport-image-1

 

अब आपके ये  कागजात भी जन्म प्रमाण के तौर पर वैलिड होंगे.

  • बर्थ सर्टिफिकेट.
  • ट्रांसफर सर्टिफिकेट, स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट और आपकी आखिरी शिक्षा का प्रमाण पत्र. आपको बता दें आपके ये कागजात तभी  मान्य होंगे जब आपकी शिक्षा किसी मान्यता प्राप्त स्कूल से होगी.
  • पेन कार्ड जिसमें स्पष्ट तौर पर डेट ऑफ बर्थ लिखी हो.
  • आधार कार्ड जिस पर डेट ऑफ बर्थ  लिखी हो.
  • ड्राइविंग लाइसेंस जिस पर डेट ऑफ बर्थ लिखी हो.
  • वोटर आई डी कार्ड जिस पर डेट ऑफ बर्थ लिखी हो.
  • पॉलिसी, बॉन्ड्स और लाइफ इन्शोयरेंस जिन पर पर डेट ऑफ बर्थ लिखी हो.
  • माइनर्स के पासपोर्ट अब माता या पिता में से किसी एक के कागजात के आधार पर बन जाएंगे.
  • अब पासपोर्ट बनवाने में मैरिज सर्टिफिकेट की जरुरत नहीं होगी.
  • साधु संत अपने माता पिता की जगह गुरु का नाम दे सकेंगे. इसके साथ साधु संतो को एक पहचान पत्र और सेल्फ डिक्लेरेशन भी देना होगा.

 

साधुओं के लिए 

देश में साधु और सन्यासी पासपोर्ट में अपने जैविक माता-पिता की बजाय आध्यात्मिक गुरूओं के नाम उल्लेख कर सकते हैं. सरकार की ओर से आज घोषित नए पासपोर्ट नियमों में यह प्रावधान किया गया है. सिंह ने कहा कि साधु-सन्यासियों को यह सुविधा प्रदान कर दी गई है, लेकिन उन्हें कम से कम एक सरकारी कागाजात सौंपना होगा.

 

 

सरकारी कर्मचारियों के लिए 

विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह की ओर से घोषित इन नियमों में उन सरकारी नौकरशाहों के लिए भी प्रावधान किया गया है जो अपने संबंधित मंत्रालयों. विभागों से ‘अनापत्ति प्रमाणपत्र’ हासिल नहीं कर पा रहे हैं.

 

अकेली माँ होने पर 

 

विदेश मंत्रालय और महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के सदस्यों वाली अंतर-मंत्रालयी समिति ने इस बात पर जोर दिया है कि अकेली मां के मामले में पिता के नाम का उल्लेख नहीं किया जाए और गोद लिए बच्चे को भी स्वीकार्यता दी जाए.

इसकी अधिसूचना जल्द ही राजपत्र में प्रकाशित की जाएगी.

 

 

  • ओहइंदौर.कॉम 

नई दिल्ली: विदेश मंत्रालय , भारत सरकार    भारत सरकार ने पासपोर्ट बनवाने के नियमों में बड़े बदलाव कर दिए हैं. पहले के नियमों के तहत 26 जनवरी 1989 के बाद पैदा हुए लोगों को पासपोर्ट बनवाने के लिए जन्म प्रमाण पत्र देना अनिवार्य होता था. लेकिन सरकार ने अब इस नियम में बदलाव कर दिया है.     अब आपके ये  कागजात भी जन्म प्रमाण के तौर पर वैलिड होंगे. बर्थ सर्टिफिकेट. ट्रांसफर सर्टिफिकेट, स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट और आपकी आखिरी शिक्षा का प्रमाण पत्र. आपको बता दें आपके ये कागजात तभी  मान्य होंगे जब आपकी शिक्षा किसी मान्यता प्राप्त स्कूल…

User Rating: Be the first one !
वामन हरी पेठे, इंदौर

About Sameer Sharma

Founder and Editor, www.ohindore.com
error: नी भिया कापी नी करने का ...गलत बात